अपनी ससुराल से पत्नी कहकर निकली में अपने घर जा रही हूं लेकिन पहुँच गयी महिला थाना,आईये जाने आखिर क्या है मामला..... - eaglenews24x7

Breaking


अपनी ससुराल से पत्नी कहकर निकली में अपने घर जा रही हूं लेकिन पहुँच गयी महिला थाना,आईये जाने आखिर क्या है मामला.....

अपनी ससुराल से पत्नी कहकर निकली में अपने घर जा रही हूं लेकिन पहुँच गयी महिला थाना,आईये जाने आखिर क्या है मामला....


पीड़ित पत्नी ने उचित न्याय की लगाई गुहार महिला थाने में...


आखिर मामला क्या है इसे जाने क्यों पीड़ित पत्नी को आना पड़ा महिला थाने...?

जबलपुर:-राजकुमार उर्फ बाबू सोनकर उम्र 29 वर्ष निवासी जबलपुर डॉ सर्वपल्ली राधा कृष्णन वार्ड मरही माता मंदिर भानतलैया जबलपुर ने जानकारी देते हुए बताया कि मैं विगत कई वर्षों से अपने परिवार के साथ रह रहा हूं और मेरे माता पिता अब इस दुनिया में नहीं एवं मेरा एक बड़ा भाई है उनका परिवार और मेरा परिवार सब एक साथ रहते हैं एवं मेरी एक बहन भी साथ में रहती है मुझे विगत कुछ वर्ष पहले पैरालिसिस अटेक आया था जिसका उपचार मेरे बड़े भैया गोलू सोनकर ने किसी अच्छे डॉक्टर से करवाया था तब से पैरालिसिस होने के कारण मेरा एक अंग काम नहीं करता है और मैं किसी भी प्रकार का काम करने में शारीरिक रूप से असमर्थ हूँ तथा मेरे बड़े भैया गोलू ने मेरे घर पर ही एक छोटी सी किराना की दुकान मेरे लिए खुलवा दिया है जिससे मैं अपने परिवार का भरण पोषण कर सकूं।एक अच्छा जीवन यापन करने के उद्देश्य मेरे भैया ने मेरे लिए एक लड़की देखी और मेरा विवाह एक अच्छे परिवार की लड़की के साथ सम्पन्न हुआ,जो जबलपुर भरतीपुर की निवासरत हैं मेरी धर्मपत्नी हीना सोनकर वह अपने पैरों से पीड़ित है हमारी शादी को हुए लगभग दो से ढाई साल होने जा रहे हैं।शादी होने के कुछ माह पश्चात मेरी धर्मपत्नी मुझे मेरे परिवार से अलग होने का मेरे ऊपर दबाव बना रही हैं जब मैंने अपनी पत्नी का विरोध किया की मैं अपने परिवार से अलग नहीं हो सकता हूँ क्योंकि मैं पहले से पैरालिसिस से पीड़ित हूं  तो तुम मुझे मेरे परिवार से क्यों अलग करना चाहती हो।तब से मेरी पत्नी मुझे मानसिक रुप से प्रताड़ित करने लगी और आये दिन मेरे घर पर किसी न किसी बात को लेकर वाद-विवाद करती रहती है और मुझे व मेरे पूरे परिवार को झूठी दहेज प्रथा के मामले में फसाने की धमकी देती रहती है विगत कुछ माह पहले मेरी पत्नी ने जहर खाने का भी प्रयास किया है जिसकी जानकारी हमने उसकी परिजन को दी थी एवं हमारी समाज में एक अत्यावश्यक महत्वपूर्ण बैठक बुलाई गई बैठक के पश्चात मेरी पत्नी को उस के परिजन द्वारा भी समझाइश दी गई कि बेटा यह अच्छा काम नहीं है जैसा तुम कर रहे हो अपने परिवार के साथ अच्छे से रहो एवं समाज ने भी समझाया था परंतु उस समय मेरी धर्मपत्नी अपने परिजन और मेरे परिवार और पूरे समाज के सामने मान गई और उसकी कुछ दिन बाद फिर से उसने झगड़ा करना शुरू कर दिया है जिसकी जानकारी मेरे द्वारा उसके परिवार को भी दी गई परंतु उसके परिवार का कहना है कि वह कुछ भी कहे आप लोगो से हमें इस विषय में  कुछ भी लेना-देना नहीं है समझाने की वजह मेरे ससुराल वालों ने कहा आप जानो आपका काम जाने उसका काम जाने ऐसा कहते हुए मेरी पत्नी के परिजनों ने अपने हाथ खड़े कर दिये।


दिनांक 22 जुलाई 2021को मेरी पत्नी मेरे परिवार में कह कर गई कि मै अपने घर जा रही हूँ।लेकिन मेरी धर्मपत्नी हिना सोनकर घर जाने की वजह सीधे महिला थाना पहुँच गयी।

फिर महिला थाना से फोन करके हमें बुलाया गया मै और मेरा सहपरिवार महिला थाने पहुँचा।


महिला थाना अधिकारी के द्वारा दोनों पक्षो के सहपरिवारो को समझाते हुए पति-पत्नी को आपसी समझौता कर राजी खुशी उ पीड़ित पत्नी को उसके पति के साथ भेजा गया और साथ ही यह हिदायत भी कि दोनों पति-पत्नी अच्छे रहे आपस मे सामंजस बना कर।