वे पूछ रहे पैसा कहां से देंगे, हम कहते हैं कि - eaglenews24x7

Breaking

वे पूछ रहे पैसा कहां से देंगे, हम कहते हैं कि


युवा नौकरी संवाद:वे पूछ रहे पैसा कहां से देंगे, हम कहते हैं कि मुख्यमंत्री-विधायकों की सैलरी रोककर भी युवाओं को वेतन देंगे: तेजस्वी

तेजस्वी यादव ने सोमवार की शाम सोशल मीडिया पर युवा नौकरी संवाद किया।
तेजस्वी ने पहली कैबिनेट में 10 लाख युवाओं को नौकरी देने का वादा दोहराया
कहा, नीतीश कुमार निजी हमले कर रहे हैं पर उनकी हर बात हमारे लिए आशीर्वाद है

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सोमवार की शाम सोशल मीडिया पर युवा नौकरी संवाद किया। उन्होंने राजद के घोषणापत्र की बातों को विस्तार से सामने रखा। कहा कि बेरोजगारी दर 46.6 फीसदी है। यह देश में सबसे ज्यादा है। तेजस्वी ने पहली कैबिनेट में 10 लाख युवाओं को नौकरी देने का वादा दोहराया।

तेजस्वी ने कहा कि नीतीश कुमार निजी हमले कर रहे हैं पर उनकी हर बात हमारे लिए आशीर्वाद है। नीतीश कुमार कहते हैं कि उन्होंने 15 साल में छह लाख नौकरियां दीं, लेकिन वे यह नहीं बताते हैं कि उन्होंने ज्यादातर नौकरियां संविदा वाली दीं। वे पूछते हैं कि पैसा कहां से आएगा। नीतीश सरकार अपने बजट की 40 फीसदी राशि खर्च नहीं कर पाती, उस राशि का इस्तेमाल होगा। इस पर भी अगर शक है तो हमारी सरकार बनेगी तो मुख्यमंत्री और विधायकों की सैलरी रोकर भी युवाओं को वेतन देंगे।

तेजस्वी ने कहा कि लालू-राबड़ी सरकार ने सात विश्वविद्यालय दिए। हमारी सरकार आएगी तो बेगूसराय में राष्ट्रकवि दिनकर विश्वविद्यालय और मिथिलांचल में जननायक कर्पूरी ठाकुर विश्वविद्यालय स्थापित करेंगे। कहा कि तीन साल में हम युवाओं को ग्रेजुएशन की डिग्री देंगे। बिहार अपने लिए बिजली खुद बनाएगा। कमाई, दवाई, पढ़ाई के लिए बिहार के लोग बाहर जाते हैं। इस सब में सुधार होगा ताकि बिहार का पैसा बाहर नहीं जाए। सरकारी नौकरी में स्थानीय लोगों को तरजीह देने की बात भी उन्होंने कही। तेजस्वी यादव ने कहा कि शिक्षा संबंधी पांच लाख तक का ऋण हमारी सरकारी आने पर माफ करेगी। इस अवसर पर प्रवक्ता मनोज झा, वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी और प्रेम कुमार मणि मंच पर मौजूद रहे।