ब्राह्मण समाज का आशीर्वाद मुझे, सिंधिया, शिवराज और मोदी जी को मजबूती देगा :तोमर - eaglenews24x7

Breaking

ब्राह्मण समाज का आशीर्वाद मुझे, सिंधिया, शिवराज और मोदी जी को मजबूती देगा :तोमर


ग्वालियर। ब्राम्हण एक जाति नहीं है, बल्कि समाज का संस्कार पुंज है। सनातन काल से आज तक ब्राम्हण वर्ग ने सकल समाज के पथ प्रदर्शक का दायित्व निभाया है, इसलिए ब्राम्हण को एक जाति कहना संकीर्णता है। यह भारतीय जीवन में एक लाइट हाउस है और हर देशकाल परिस्थिति में इस वर्ग की महत्ता और उपयोगिता स्वयंसिद्ध साबित हुई है। यह बात आज शालीमार गार्डन में सर्व ब्राह्मण समाज के सम्मेलन को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर जी ने कही।
उन्होंने कहा कि ब्राह्मण समुदाय समाज का पथ प्रदर्शक है और मुझे कॉलेज से लेकर विधायक और सांसद बनाने में हमेशा ब्राह्मण समाज का आर्शीवाद मिला है। अब यही समर्थन हमारे प्रत्याशी मुन्नालाल गोयल को मिलेगा तो केवल नरेन्द्र सिंह तोमर की नहीं, बल्कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और देश में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी की ताकत बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि देश और प्रदेश में जब भी भाजपा सरकार सत्ता में आई, तेजी से विकास कार्य हुए । इसीलिए भाजपा और विकास एकदूसरे के पूरक बन गए हैं।
केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर ने कहा कि ब्राह्मण समाज ने हमेशा पथ प्रदर्शक की भूमिका निभाई है और कॉलेज की राजनीति से लेकर आज केन्द्रीय मंत्री बना हूं तो इसी समाज के मार्गदर्शन की महत्वपूर्ण भूमिका है। अब हमारे प्रत्याशी श्री गोयल को भी समाज का आर्शीवाद मिलेगा और वे इस उद्देश्य में सफल होंगे। उन्होंने कहा कि ब्राह्मण समाज तो हमेशा से जागरुक रहा है, लेकिन हर चुनाव को गंभीरता से लेना चाहिए और इस बार का चुनाव थोड़ा अलग है। यदि गांव में सरपंच गलत चुन लिया जाए तो पंचायत खराब हो जाती है। इसी प्रकार विधायक गलत चुन लिया जाए तो क्षेत्र, सरकार गलत चुन ली जाए तो प्रदेश का और केन्द्र सरकार गलत हो जाए तो देश का नुकसान हो जाता है। अब उपचुनाव में वोट न केवल श्री गोयल को मिलेगा, बल्कि इस वोट से नरेन्द्र सिंह तोमर के साथ मुख्यमंत्री शिवराज जी, सिंधिया जी और प्रधानमंत्री मोदी को मजबूत करके पूरे प्रदेश के भविष्य को तय करेगा और विकास के नए रास्ते खोलेगे।
उन्होंने कहा कि 2003 में प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी, लेकिन इसके पहले ग्वालियर और पूरे राज्य में कितने विकास कार्य हुए, सभी को मालूम है। स्व. माधवराज जी थोड़े समय के लिए केन्द्र में मंत्री बने तो ग्वालियर में आईआईआईटीएम, आईआईटीएम, एजी ऑफिस ओवरब्रिज और एयरपोर्ट की बिल्डिंग बनी। इसके बाद किसी कांग्रेसी नेता ने ग्वालियर में विकास नहीं किया। 2003 में भाजपा की सरकार बनते ही ग्वालियर में एक दिन में दो विश्वविद्यालय, राजा मान सिंह संगीत विश्वविद्यालय और राजमाता विजयाराजे कृषि विश्वविद्यालय बने। ग्वालियर में एक साथ पांच बड़े ओवरब्रिज बनाए गए। बिलौआ में स्टील फैक्ट्री, प्लास्टिक पार्क, कालीन, गारमेंट पार्क, आईटी पार्क और सीपेट जैसा संस्थान बना। अब ग्वालियर में चंबल से पानी लाने का काम हो रहा है और इसके लिए 300 करोड़ रुपए मंजूर हो गए हैं। यह कहना गलत नहीं होगा कि भाजपा व विकास एकदूसरे के पूरक हैं। हाल ही में स्पोटर्स कॉम्पलेक्स का शिलान्यास भी हो गया है।
तोमर ने कहा कि भाजपा में वादे किसी व्यक्ति के साथ उसकी विरासत में नहीं जाते। 1953 में पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने अयोध्या में श्री राम मंदिर बनाने की बात कही और जैसे ही देश में श्री मोदी और उप्र में श्री योगी के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनी तो राम मंदिर बनाने का काम शुरु हो गया। अभी कुछ कांग्रेसी नेता भाजपा में आए हैं और वे खुद कहते हैं कि हम अपनी पार्टी में चाहते हुए श्रीराम की जय नहीं बोल पाते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं है। भाजपा एक ऐसा राजनीतिक दल है, जो जाति, भाषा और क्षेत्रवाद से अलग हटकर केवल राष्ट्रवाद की भावना से काम करती है। अब उपचुनाव का समय है और यह चुनाव थोड़ा अलग है। इस बार जो वोट श्री गोयल को मिलेगा तो प्रदेश में शिवराज सिंह जी सरकार स्थायी होगी और देश में प्रधानमंत्री मोदी को और ज्यादा ताकत मिलेगी। ब्राह्मण समाज में सभी बुद्धिजीवी हैं और इस बात को वे अच्छी तरह समझते हैं।
सनातन काल से संपूर्ण समाज आपका अभिनंदन और वंदन करता है। मैं आज भी आपके प्रति वंदन भाव रखता हूं। उन्होंने कहा कि हमारी पूरी पार्टी दीनदयाल जी के दर्शन पर समर्पित है। उनका एकात्म मानववाद हमारे लिए गीता की तरह पवित्र है।
क्षेत्रीय सांसद विवेक शेजवलकर ने कहा कि ब्राह्मण समाज शरीर के मस्तिष्क के रूप में है। लोकतंत्र में सबसे बड़ा हथियार आपका मत होता है, इसका उपयोग भाजपा के पक्ष में करें। आपके मत से मुन्नालाल गोयल के हाथ मजबूत होंगे, आपके मत से प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान के हाथ मजबूत होंगे और आपके मत से देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के हाथ मजबूत होंगे और ग्वालियर पूर्व विधानसभा विकास के रास्ते पर और आगे बढे़गा। 
सीधी सांसद रीति पाठक ने कहा कि आज युद्ध का समय है और मेरा जन्मदिन भी, जन्मदिन के अवसर पर मैं आपकी बहन आप से आग्रह करती हूं कि 3 नवंबर के दिन आपका स्नेह, आपका विश्वास, आपका आशीर्वाद भाजपा और मुन्नालाल गोयल को मिले और मैं आपको विश्वास दिलाती हूं कि मुन्नालाल जी क्षेत्र की उन्नति और आपके सम्मान की हर समय चिंता करेंगे।
संभागीय संगठन मंत्री आशुतोष तिवारी जी ने कहा कि हम धर्म की रक्षा करते हैं और धर्म ही हमारी रक्षा करता है। धर्म की रक्षा करना हमारा मूल उद्देश्य है। सबसे श्रेष्ठ धर्म राष्ट्र धर्म है। राष्ट्र धर्म की रक्षा करने के लिए ब्राह्मणों को एकत्रित होना पडे़गा।
भाजपा प्रत्याशी मुन्नालाल गोयल ने इस अवसर पर कहा कि विप्र समाज आदिकाल से तप और धर्म का संदेश दे रहा है। आप लोग देश और समाज को रास्ता दिखाते हैं, हम लोग आपसे प्रेरणा लेते हैं। विप्र समाज अच्छे लोगों का साथ देता है। मैं हर समय आपके समाज के साथ खड़ा हूं। यह उपचुनाव अच्छाई और बुराई के बीच है। मेरा हर समय प्रयास रहा है कि क्षेत्र में शांति और सद्भावना बनी रहे, अमन रहे, इसलिए विप्र समाज का भरपूर आशीर्वाद मुझे मिलेगा। 
बैठक का संचालन अंबिकाप्रसाद पचौरी एवं आभार देवेश शर्मा ने व्यक्त किया। स्वागत भाषण किशन मुदगल ने दिया। इस अवसर पर मंच पर प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर, पूर्व मंत्री गौरीशंकर बिसेन, डॉ हरिमोहन पुरोहित, प्रमिला वाजपेयी, शशि पाठक, देवेश शर्मा, सुमन शर्मा, अशोक पठसारिया, जयप्रकाश मिश्रा, रामकृष्ण तिवारी, केडी सोनकिया, आरके शुक्ला, शशिकांत दीक्षित, श्याम पाठक, आत्माराम पाठक, किशन मुदगल, विवेक शर्मा उपस्थित थे।
इस अवसर पर ब्राम्हण समाज के सरला मिश्रा, विनती शर्मा, संजय शर्मा, दीपक मोदगिल, राकेश शुक्ला, व्यंजना मिश्रा, पुष्पा शर्मा, दिनेश दीक्षित, कमलेश शर्मा, मीना तिवारी, श्रीकृष्ण तिवारी, सोमेश् महंत, अनिल त्रिपाठी, सतीश बोहरे, राजीव पाराशर, मुकेश दुबे, रोहित शर्मा, पुरूषोत्तम भार्गव, रामनरेश पाराशर, रवि उपाध्याय, रेखा धोलाखंडी, सुनील शर्मा, पंकज पालीवाल, श्यामानंद शुक्ला, सुभाष शर्मा, विद्यादर शर्मा, अरविंद कटारे, कुलदीप चतुर्वेदी, जयंत शर्मा, भरत दांतरे, निर्दोष शर्मा, धर्मेंद्र भारद्वाज, राकेश शर्मा, आनंद दीक्षित, डॉ कौरव सहित ब्राम्हण समाज के सैकडों वरिष्ठ समाजसेवी उपस्थित थे। इस अवसर पर विवेक शर्मा ने अतिथियों को राम दरबार का चित्र भेंट किया।