महबूबा के बयान पर केंद्रीय मंत्री का पलटवार - eaglenews24x7

Breaking

महबूबा के बयान पर केंद्रीय मंत्री का पलटवार


जम्मू । केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने आरोप लगाया कि कश्मीर के कुछ नेता अवसरवाद की राजनीति' करते हैं क्योंकि जब वे सत्ता में होते हैं तो भारत की शपथ लेते हैं और एक बार सत्ता से बाहर होने के बाद, वे देश की संप्रभुता पर सवाल उठाते हैं। जितेंद्र सिंह पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती के उस बयान पर प्रतिक्रिया दे रहे थे, जिसमें उन्होंने जम्मू-कश्मीर को लेकर कहा था कि तत्कालीन राज्य का झंडा और संविधान बहाल होने तक उन्हें व्यक्तिगत तौर पर चुनाव लड़ने में कोई दिलचस्पी नहीं है। जम्मू-कश्मीर की उधमपुर सीट से सांसद जितेंद्र सिंह ने कहा, यह साफ तौर पर अवसरवाद की राजनीति है। जब वे सत्ता में होते हैं तो भारत की शपथ लेते हैं और एक बार सत्ता से बाहर होने के बाद, वे भारत की संप्रभुता पर सवाल उठाते हैं। यह इन तथाकथित मुख्यधारा के नेताओं के दोहरे भाव को उजागर करता है।' उन्होंने सवाल किया, वे खुद को भारत के मुख्यधारा के नेता कहते हैं। अगर वे वाकई इसमें विश्वास करते हैं तो उनसे महबूबा पूछा जाना चाहिए कि भारतीय तिरंगा उठाने में उन्हें क्या परेशानी है पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी पीडीपी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने शुक्रवार को कहा कि जब तक जम्मू-कश्मीर को लेकर पिछले साल पांच अगस्त को संविधान में किए गए बदलावों को वापस नहीं ले लिया जाता, तब तक उन्हें चुनाव लड़ने अथवा तिरंगा थामने में कोई दिलचस्पी नहीं है। जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को पिछले वर्ष अगस्त में समाप्त किए जाने के बाद से महबूबा हिरासत में थीं। रिहा होने के बाद पहली बार मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि वह तभी तिरंगा उठाएंगी, जब पूर्व राज्य का झंडा और संविधान बहाल किया जाएगा। उन्होंने कहा जहां तक मेरी बात है,तो मुझे चुनाव में कोई दिलचस्पी नहीं है। जब तक वह संविधान हमें वापस नहीं मिल जाता जिसके तहत मैं चुनाव लड़ती थी, महबूबा मुफ्ती को चुनाव से कोई लेना देना नहीं है।