28 वर्षीय इस शहीद को शहादत देने पहुंचा पूरा गोरखपुर, कुछ ही महीनों पहले हुई थी सगाई... - eaglenews24x7

Breaking


28 वर्षीय इस शहीद को शहादत देने पहुंचा पूरा गोरखपुर, कुछ ही महीनों पहले हुई थी सगाई...

28 वर्षीय इस शहीद को शहादत देने पहुंचा पूरा गोरखपुर, कुछ ही महीनों पहले हुई थी सगाई...

विक्की झा।।25 मार्च लगभग शाम 4 बजे के करीब गोरखपुर के चौरीचौरा इलाके में लोगों की उमड़ी भीड़ देखने योग्य थी,यहां यह भीड़ किसी कार्यक्रम या राजनीतिक जनसावंद के लिए नही,बल्कि भारत के एक सच्चे सिपाही को पूरे प्रेमपूर्वक शहादत देने के लिए मौजूद हुई थी,जहां लगभग बस एक गांव ही नहीं लगभग जिले के अधिकतर रहिवासी जात-पात का भेदभाव भूल,इस शहीद को श्रद्धांजलि देने के लिए उपस्थित हुए थे।

शहीद की उम्र लगभग 28 वर्ष बताई जा रही है,शहीद सिपाही का नाम धनंजय यादव,ग्राम चौरी चौरा,राघोपट्टी पड़री निवासी,गोरखपुर जिसकी अभी हाल ही में सिक्कीम के बॉर्डर इलाके में पोस्टिंग हुई थी।

पोस्टिंग से कुछ महीने पहले ही धनंजय की शादी भी तय हुई थी, शादी घर परिवार जैसे सभी व्यक्तिगत जिम्मेदारियों से दूर देश के हित का सोचते हुए, सगाई के तुरंत बाद धनंजय अपनी पोस्टिंग पर वापस चले गए,पर कहते हैं ना,कल किसने देखा है ?सिपाही धनंजय यादव के घर वालों को क्या पता था,कि वह धनंजय का वह हंसता चेहरा आखरी बार देख रहे थे,धनंजय की मौत सिक्किम बॉर्डर पर हुए आतंकी हमले में सीने पर गोली लगने की वजह से हुई।

धनंजय की शहादत को उसके घरवालों और समस्त गांव के परिजनों ने गर्वपूर्वक होकर स्वीकार किया हैं,गांव के लोगों का कहना है,हमें धनंजय जैसे बेटे पर गर्व है,अगर इस देश की सुरक्षा बनाए रखने के लिए और भी कई धनंजय कुर्बान करने पड़े तो,सिर्फ गोरखपुर ही नहीं पूरे भारत का कोई भी राज्य या जिला इसमें योगदान देने से पीछे नहीं हटेगा।


हमारे संवाददाता से हुई बातचीत में धनंजय यादव के दोस्त सुदीप गुप्ता का कहना है कि,बचपन से ही धनंजय अपनी फिटनेस और आर्मी की तैयारी को लेकर काफी सोचता था,मानो जैसे देश की सेवा करना और आर्मी में अपना नाम कमाने के लिए उसका जन्म हुआ हो,भारत मां को गर्व है,अपने इन सभी शहीद सपूतों पर।