सरकारी अस्पताल की महिला डॉक्टर का कारनामा आया सामने,सेलेरी सरकारी अस्पताल से और प्रेक्टिस प्रायवेट अस्पताल में,पढ़े पूरी खबर...... - eaglenews24x7

Breaking


सरकारी अस्पताल की महिला डॉक्टर का कारनामा आया सामने,सेलेरी सरकारी अस्पताल से और प्रेक्टिस प्रायवेट अस्पताल में,पढ़े पूरी खबर......

सरकारी अस्पताल की महिला डॉक्टर का कारनामा आया सामने,सेलेरी सरकारी अस्पताल से और प्रेक्टिस प्रायवेट अस्पताल में.......


एसडीएम और सीएमएचओ की छापामार कार्यवाही में हुआ खुलासा सीसीटीवी कैमरे के फुटेज से पकड़ा महिला डॉक्टर का कारनामा सबूत के रूप में मिला सीसीटीवी फुटेज।

मध्य प्रदेश के बैतूल में ताजा मामला सामने आया है जहाँ सरकारी अस्पताल की डॉ प्राइवेट अस्पताल में प्रैक्टिस करते हुए पकड़ी गई है जिसका सी सी टी वी फुटेज आला अधिकारियों को मिला है।बैतूल सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है।कोरोना काल में एक ओर  सरकारी अस्पताल डॉक्टरों की कमी से जूझ रहे हैं,तो वहीं दूसरी ओर बैतूल के एक सरकारी अस्पताल में पदस्थ महिला डॉक्टर अस्पताल से गायब होकर प्राइवेट अस्पताल मैं प्रैक्टिस करते हुए पाई गई और सैलरी सरकारी अस्पताल से भी ले रही है।

मामला सामने आने के बाद अब स्वास्थ्य विभाग महिला डॉक्टर के साथ साथ बीएमओ के खिलाफ भी कार्रवाई कर रहा है।मामला बैतूल के मुलताई का है जहां सरकारी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में में पदस्थ स्त्री और प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ मेघा वर्मा पांच छै माह से गायब थी।स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को शिकायत मिली डॉ मेघा वर्मा बैतूल के प्रायवेट अस्पताल सुभद्रा हॉस्पिटल में प्रैक्टिस कर रही है।इस शिकायत के बाद सीएमएचओ डॉ ए के तिवारी और एसडीएम सीएल चनाप ने टीम के साथ जाकर छापामार कार्यवाही की, लेकिन महिला डॉक्टर मेघा वर्मा वहां पर नहीं मिली । टीम ने निजी अस्पताल के कम्प्यूटर के हार्ड डिस्क को जप्त किया और उसको खंगालने के बाद उसमें सीसीटीवी फुटेज मिले जिसमें महिला डॉक्टर प्रैक्टिस करते हुए दिख रही हैं और मरीजों का इलाज कर रही थी। 

इस वीडियो को देखकर स्वास्थ्य विभाग में उनके खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है।निजी अस्पताल के बाहर लगे डिस्प्ले बोर्ड में भी डॉ मेघा वर्मा का नाम लिखा हुआ था इसे भी स्वास्थ्य विभाग में सबूत के रूप में रखा है।

आपदा के इस समय में एक ओर जहां कई डॉक्टर और स्वास्थ्य कर्मचारी तमाम खतरे उठाकर रात-दिन मरीजों के उपचार में जुटे हैं वहीं कुछ डॉक्टर ऐसे समय में अपने कर्तव्य को ताक पर रख कमाई पर ध्यान दे रहे हैं।इस समय वैसे ही मरीजों की भरमार हैं और डॉक्टरों तथा स्वास्थ्य कर्मचारियों का खासा टोटा चल रहा है।अब स्वास्थ्य विभाग द्वारा अस्पताल संचालक एवं उक्त डॉक्टर के खिलाफ कार्यवाही की जा रही है। 

एसडीएम चनाप ने बताया कि डॉ.मेघा वर्मा लंबे समय से अपनी ड्यूटी पर नहीं जा रही थी और निजी अस्पताल में सेवाएं दे रही थीं।इस संबंध में शिकायत मिलने पर निरीक्षण किया गया सीएमएचओ डॉ.तिवारी ने बताया कि अस्पताल संचालक को नोटिस जारी किया गया है।