टीएमसी ने उठाए चुनाव आयोग पर सवाल कुच बिहार फायरिंग में हुई चार की मौत..... - eaglenews24x7

Breaking

टीएमसी ने उठाए चुनाव आयोग पर सवाल कुच बिहार फायरिंग में हुई चार की मौत.....

टीएमसी ने उठाए चुनाव आयोग पर सवाल कुच बिहार फायरिंग में हुई चार की मौत.....


CISF से स्थानीय लोगों ने राइफलें छीनने की कोशिश की जब सीतलकुची मतदान चल रहा था ऐसा आरोप लगाया गया.…


आज स्थानीय लोगों के हमले पर कूच बिहार में CISF के द्वारा कथित गोलियां चलाई गई जिसमें हुई चार लोगों की मौत......

कोलकाता :-कूच बिहार जिला जो की पश्चिम बंगाल में स्थित है उस जिले के अंतर्गत सीतलकुची में मतदान के समय CISF के द्वारा फायरिंग की गई जिसमें हुई चार लोगों की मौत तृणमूल कांग्रेस ने उठाए सवाल चुनाव आयोग पर इस घटना के बाद,कूच बिहार मे हिंसक झड़प के कारण टीएमसी ने चुनाव आयोग से मांगा जवाब कि केंद्रीय बल के द्वारा गोली चलाने पर 4 लोग की जो मौतें हुई है।


बताया जा रहा है पुलिस के वरिष्ठ पदाधिकारियों के द्वारा की उस गांव की प्रारंभिक जांच की रिपोर्ट के अनुसार गांव के लोगों के द्वारा सीआईएसएफ जवानों पर पहले हमला किया गया उसके बाद सीआईएसएफ जवानों की गोलीबारी में चार लोगों की मौत हो गई, क्योंकि यह सब इसलिए हुआ स्थानीय लोगों ने जवानों से राइफलें छीनने की कोशिश की एवं का घेराव किया,इस वजह से जवानों ने गोली चलाई।


इस घटना के बाद केंद्रीय चुनाव आयोग ने पोलिंग स्टेशन 125 में चुनावो को स्थगित कर दिया गया स्पेशल ऑब्जर्वर की अंतरिम रिपोर्ट के कारण केंद्रीय चुनाव आयोग ने यह फैसला लिया।स्पेशल पुलिस ऑब्जर्वर विवेक दुबे से माथाभांगा में घटित घटना की केंद्रीय चुनाव आयोग ने मांगी रिपोर्ट सूत्रों के अनुसार रिपोर्ट में लगभग सौ लोगों ने पोलिंग पुलिस ऑफिसर पर हमला किया था एवं सुरक्षाबलों के अस्त्रो को छीनने की कोशिश की गई जिसकी वजह से सुरक्षा बल ने अपने बचाव के लिए गोली चलाई।


कूचबिहार पुलिस के द्वारा यह भी जानकारी दी गई मतदान के समय एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई अज्ञात व्यक्ति के द्वारा ऐसा पहली बार हुआ है।वहीं तृणमूल कांग्रेस के द्वारा यह आरोप लगाया गया कि इस हत्या की साज़िश भाजपा द्वारा की गई है।भाजपा पार्टी के द्वारा यह दावा किया गया वह व्यक्ति पोलिंग एजेंट था और वह सत्तारुढ पार्टी का था।


वही पुलिस अधिकारी के बताए अनुसार उस व्यक्ति का नाम आनंद बर्मन और वो सितालकुची के पठानतुली इलाके में बूथ नं 85 बाहर घसीटकर लाया गया और उसको गोली मार दी गयी,घटना के समय मतदान चल रहा था।इसके पश्चात तृणमूल कांग्रेस और भाजपा समर्थकों में विवाद चालू हो गया,मतदान केंद्र के बाहर बम फेंकने के कारण बहुत लोग घायल हो गये,जिसको काबू में करने के लिए सुरक्षाबलों के द्वारा लाठीचार्ज किया गया।


निर्वाचन अधिकारी के द्वारा यह कहा गया कि सीतलकुची में मतदान के समय जिस युवक की गोली मार हत्या कर दी गई।पर्यवेक्षक जल्द से जल्द रिपोर्ट देने को कहा गया और हालातो की जानकारी ली गयी,घटनाक्रम के बाद रेपिड एक्शन फोर्स एवं पुलिस को तैनात किया गया।


भाजपा के प्रदेश प्रमुख और सांसद दिलीप घोष पर कुछ समय पहले सितालकुची के इलाके में हमला हुआ था।नातावारी निर्वाचन क्षेत्र में तृणमूल ने रवींद्र घोष लगाया आरोप की इस हत्या के पीछे भाजपा है साथ ही PTI से यह भी कहा कि हत्या की साजिश भाजपा के द्वारा रची गई है वह गुंडे भाजपा के है और भाजपा चुनाव को जीतने के लिये अशांति फैला रही है।