मास्क और शारीरिक दूरी ही रामबाण इलाज कोरोना जैसी महामारी का, जाननें के लिये पढ़े पूरी खबर...... - eaglenews24x7

Breaking

मास्क और शारीरिक दूरी ही रामबाण इलाज कोरोना जैसी महामारी का, जाननें के लिये पढ़े पूरी खबर......

मास्क और शारीरिक दूरी ही रामबाण इलाज कोरोना गाइड लाइन पर जबलपुर एएसपी से खास बातचीत की गई।

जबलपुर।देश में भले ही दो-दो कोरोना वैक्सीन आ गई हों,लेकिन इस का रामबाण इलाज केवल और केवल शारीरिक दूरी रखते हुए मास्क लगाना ही है।यह बात जबलपुर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संजय अग्रवाल ने इस प्रतिनिधि से कही।बता दें कि संजय अग्रवाल कोविड-19 और उसकी गाइडलाइन के पालन को लेकर उपस्थित सवालों का समाधान प्रस्तुत कर रहे थे।


पुलिस व्यवस्था की दृष्टि से यातायात प्रकोष्ठ और ग्रामीण क्षेत्र की जिम्मेदारी संभाल रहे अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संजय अग्रवाल ने कहा कि नए स्ट्रेन का संक्रमण और उसकी गति चिंताजनक है।इसकी रोकथाम के लिए पुलिस विभाग अपने स्तर पर हर संभव प्रयास कर रहा है।उन्होंने बताया कि यातायात पुलिस के जवान और अधिकारी लोगों को मास्क लगाने के लिए प्रेरित कर रहे हैं।


साथ ही चेतावनी दी जा रही है कि यदि हिदायत के बावजूद मास्क नहीं लगाए गए तो फिर लापरवाही करने वालों के चालान भी काटे जाएंगे,उक्त चालानों का समाधान शमन शुल्क भी हो सकता है। 


लेकिन आवश्यकता पड़ने पर विधि सम्मत कार्रवाई के विकल्प खुले हुए हैं,क्योंकि संक्रमण की चेन तोड़ने का फिलहाल मानव समाज के पास एक ही विकल्प मौजूद है।वह यह है कि सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखते हुए मास्क लगाया जाए। 


जो लोग ऐसा नहीं करेंगे वह खुद को तो खतरे में डाल लेंगे ही,अपने परिजनों की जान के लिए भी खतरा उत्पन्न करेंगे।अतःपुलिस की अपील है कि अपनी और अपनों की सलामती के लिए मास्क अवश्य लगाएं और सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें।


बहुत आवश्यक हो तभी घरों से बाहर निकलें और समय-समय पर साबुन से हाथ धोते रहें। इन छोटी-छोटी सावधानियों से कोरोना को परास्त किया जा सकता है।


अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने स्पष्ट किया कि थानों की पुलिस भी कोविड-19 की चैन तोड़ने में लगी हुई है।पुलिस के द्वारा ऐसे होटल रेस्टोरेंट और दुकान संचालकों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है,जो स्वयं मास्क नहीं लगाते अथवा उनका स्टाफ बगैर मास्क के पाया जाता है। यह लोग मास्क लगाए बगैर आने वाले ग्राहकों को सेवा अथवा सामान देते हैं,तब भी धारा 188 के तहत कार्रवाई सुनिश्चित की गई है।

जागरूकता के लिए बाजारों,रिहायशी इलाकों और गली, चौराहा में अनाउंसमेंट कराया जा रहा है। 

अपील की जा रही है कि बगैर आवश्यक कार्य के घर से ना निकलें,घर में रहकर भी समय-समय पर साबुन से हाथ धोते रहें।यदि बाहर निकलना अत्यावश्यक हो तो मास्क लगाकर ही जाएं।ऐसी में भी भीड़-भाड़ वाले इलाकों में जाने से बचें,एक दूसरे से शारीरिक दूरी बनाए रखें।


अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक का कहना है कि वैसे तो सरकार ने ही महाराष्ट्र आने जाने वाली बसों पर प्रतिबंध लगा रखा है।इसके बावजूद बाहर से आने वाले यात्रियों पर निगाह रखी जा रही है। उन्होंने कहा कि पुलिस आपके सहयोग के लिए है। हमारे द्वारा किया जाने वाला कड़ा व्यवहार आप की सुरक्षा को ध्यान में रखकर ही अमल में लाया जाता है। 


अतःपुलिस विभाग के मैदानी अमले के साथ सहयोगात्मक व्यवहार करें,हम मिल जुल कर ही इस महामारी से अपने आप को बचा सकते हैं।


eaglenews24x7

समस्या आपकी संघर्ष हमारा

नोट:eaglenews24x7न्यूज एवं विज्ञापन के लिये जिले एवं तहसील स्तर पर संवाददाता और ब्यूरो नियुक्त करना है।

9479681930,

9752009923,

9425155106,