उपचुनाव में गर्माया ईवीएम का मुद्दा: जय के सवाल पर बोले शिवराज- हार की भूमिका बनाने लगी कांग्रेस - eaglenews24x7

Breaking

उपचुनाव में गर्माया ईवीएम का मुद्दा: जय के सवाल पर बोले शिवराज- हार की भूमिका बनाने लगी कांग्रेस


भोपाल । मध्य प्रदेश में विधानसभा की 28 सीटों पर उपचुनाव के बीच एक बार फिर से ईवीएम को लेकर सियासत शुरू हो गई है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने ईवीएम हैक होने की आशंका जताई। इसको लेकर दिग्विजय सिंह ने एक ट्वीट भी किया, जिसमें उन्होंने लिखा कि विकसित देश चुनावों में ईवीएम का उपयोग नहीं करते हैं। क्योंकि ईवीएम में एक चिप लगी होती है, जिसे हैक किया जा सकता है। भाजपा द्वारा ईवीएम हैक किए जाने की आशंका दिग्विजय सिंह ने जताई है।
दिग्विजय सिंह की ईवीएम को लेकर आशंका पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जवाब दिया। मंगलवार को वोटिंग के बीच सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मीडिया से चर्चा की। मीडिया चर्चा में सीएम ने कहा कि कांग्रेस अपनी पराजय का ठीकरा एक बार फिर ईवीएम पर फोडऩे को तैयार है। यह वही ईवीएम है, जिससे 2018 में छत्तीसगढ़ और राजस्थान के नतीजे आए। तब ईवीएम ठीक थी, लेकिन अब, जब पराजय सामने दिख रही है, तो उसे दोष देना कांग्रेस के नेताओं ने प्रारम्भ कर दिया है।

जनता लड़ रही चुनाव
दिग्विजय सिंह ने कहा कि जनता चुनाव लड़ रही है, जब जनता चुनाव लड़ती है, तो पूरा शासन और प्रशासन कितनी भी कोशिश कर ले, ज्यादा प्रभाव पडऩे वाला नहीं। जैसा कि हमने आगाह कर दिया था कि जनता इन्हें हराना चाहती है। ये केवल प्रशासन के जरिए चुनाव जीतना चाहते हैं। कई जगह से शिकायत आ रही है कि गरीबों को वोट नहीं डालने दिया जा रहा है। उनकी मतदाता पर्ची बीएलओ से छुड़ाकर भाजपा के लोगों ने अपने पास रख ली हैं।

जीतेगा लोकतंत्र, हारेगा नोट तंत्र
दिग्विजय सिंह ने कहा, कुछ जगह पर फायरिंग हुई है। प्रशासन पर दबाव डालकर और पुलिस के माध्यम से चुनाव जीतना चाहते हैं। यह चुनाव लोकतंत्र और नोट तंत्र के बीच है... इस बार लोकतंत्र की जीत होगी। सिंह ने कहा कि चुनाव में शराब और पैसा बड़े पैमाने वितरण हुआ है। भाजपा कितनी भी कोशिश कर ले, लोकतंत्र विजयी होगा, नोट तंत्र हारेगा। जो कांग्रेस छोड़ भाजपा में गए हैं, उनको जनता सबसे पहले हराएगी।

ईवीएम पर सवाल
सिंह ने कहा कि तकनीकी युग में विकसित देश ईवीएम पर भरोसा नहीं करते, पर भारत और कुछ छोटे देशों में ईवीएम से चुनाव होते हैं। विकसित देश क्यों नहीं कराते? क्योंकि उन्हें ईवीएम पर भरोसा नहीं है? क्योंकि जिसमें चिप है, वह हैक हो सकती है।

सिंधिया ने भी साधा निशाना
ईवीएम पर कांग्रेस के सवाल को लेकर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी निशाना साधा है। सिंधिया ने मताधिकार का प्रयोग करने के बाद कहा, भाजपा विकास, अमन चैन की सरकार है। ये ऐतिहासिक कार्यकाल होगा। ऐतिहासिक किसान महिलाओं और युवाओं के लिए होगा। कांग्रेस की आदत है ओछी राजनीति करना। हार रहे होते हैं तो हर तंत्र का इस्तेमाल करते हैं।