अर्नब की गिरफ्तारी प्रेस की स्वतंत्रता और अभिव्यक्ति की आजादी को कुचलने का प्रयास : विष्णुदत्त शर्मा - eaglenews24x7

Breaking

अर्नब की गिरफ्तारी प्रेस की स्वतंत्रता और अभिव्यक्ति की आजादी को कुचलने का प्रयास : विष्णुदत्त शर्मा


भोपाल। पत्रकार अर्नब गोस्वामी का कसूर सिर्फ इतना था कि उन्होंने पालघर में साधुओं की हत्या का मामला और अभिनेता सुशांत सिंह की कथित आत्महत्या के मामले को उठाया। तो जनमानस ने देखा कि महाराष्ट्र में किस प्रकार हत्या करने का प्रयास हो रहा है। सरकार सब मौन होकर देख रही है। कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी के इशारे पर पुलिस ने अर्नब गोस्वामी के घर जाकर उनके परिवार के साथ बत्तमीजी की। पत्रकारिता के चौथे स्तंभ पर संरक्षण के लिए भाजपा के लाखों कार्यकर्ताओं ने उनके सम्मान में देश में मीडिया के लिए साथ खडे होकर महाराष्ट्र सरकार का विरोध किया है। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद विष्णुदत्त शर्मा ने पत्रकार अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी के विरोध में रंगमहल चौराहा से आयोजित मशाल जुलूस को संबोधित करते हुए कही। मशाल जुलूस रंगमहल चौराहा से प्रारंभ होकर नेहरू प्रतिमा पर समाप्त हुआ।
उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्वव ठाकरे ने सोनिया गांधी के इशारे पर देश के चौथे स्तंभ की हत्या कर दी। यही कांग्रेस का असली चरित्र है। इससे महाराष्ट्र सरकार और पुलिस की इस कार्रवाई ने इंदिरा गांधी के कार्यकाल की याद दिला दी। जिस तरह से कांग्रेस के एक परिवार ने 1975 में आपातकाल लगाकर लोकतंत्र की हत्या की थी, आज भी उसी परिवार के इशारे पर महाराष्ट्र सरकार ने प्रेस की स्वतंत्रता और अभिव्यक्ति की आजादी को कुचलने का प्रयास किया है।
श्री शर्मा ने कहा कि भाजपा का प्रत्येक कार्यकर्ता, नौजवान और जनमानस पत्रकार अर्नब गोस्वामी के साथ खड़ा है। आज कांग्रेस के इशारे पर लोकतंत्र की हत्या करने का प्रयास महाराष्ट्र सरकार ने किया है, मैं आव्हान करता हूं कि अगर उद्वव ठाकरे को लोकतंत्र में विश्वास है तो उनको कुर्सी पर रहने का अधिकार नहीं है। उनको इस्तीफा दे देना चाहिए। आज जिस प्रकार भाजपा के कार्यकर्ता और लाखों लोग अर्नब गोस्वामी के लिए मैदान में उतरे है। मैं देश के जनमानस नौजवानों और पत्रकारों से आव्हान करता हूं कि पूरा देश और जनमानस प्रेस की आजादी के लिए और उनके सम्मान में भाजपा कंधे से कंधा मिलाकर उनको ताकत देगी। महाराष्ट्र सरकार के इस कृत्य के खिलाफ पूरे देश में मैदान में उतरे। महाराष्ट्र सरकार, कांग्रेस पार्टी और महाराष्ट्र पुलिस को अपने इस व्यवहार के लिए देश को जवाब देना होगा।
जिलाध्यक्ष सुमित पचौरी ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार ने अर्नब गोस्वामी पर जिस तरह हमला करवाया है उससे यह साबित होता है कि उद्वव ठाकरे पालघर में साधुओं की हत्या का मामला और अभिनेता सुशांत सिंह के मामले में घबरा गयी है।
इस अवसर पर सांसद सुश्री प्रज्ञा सिंह ठाकुर, पार्टी के प्रदेश महामंत्री भगवानदास सबनानी, सुरेन्द्रनाथ सिंह, पूर्व महापौर आलोक शर्मा, युवा मोर्चा अध्यक्ष डॉ. अभिलाष पाण्डे, शैलेन्द्र शर्मा, प्रदेश प्रवक्ता राहुल कोठारी, विकास विरानी, सुमित ओरछा, सुश्री नेहा बग्गा, अशोक सैनी, अनिल अग्रवाल, केवल मिश्रा, राम बंसल, राजेन्द्र गुप्ता, राहुल राजपूत, सतीश विश्वकर्मा, रविन्द यती, आरके बघेल, केवल मिश्रा, सुधीर जाचक, किशन सूर्यवंशी, मुकेश राय, सूर्यकांत गुप्ता, युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष प्रमोद शर्मा, भाषित दीक्षित, पार्टी के जिला पदाधिकारी सहित हजारों कार्यकर्ता उपस्थित थे।