लक्ष्मी-गणेश, रंगोली, लाई-बताशा, डिजाइनर दीयों से सज गया बाजार, खरीददारी करने उमड़ी भीड़ - eaglenews24x7

Breaking

लक्ष्मी-गणेश, रंगोली, लाई-बताशा, डिजाइनर दीयों से सज गया बाजार, खरीददारी करने उमड़ी भीड़


जबलपुर, खरीददारी करने के लिए बाजारों में उमड़डी भीड़। पारम्परिक बाजारों में चार पहिया वाहनों का प्रवेश रहा प्रतिबंधित हर प्वॉइंट पर मौजूद ट्रैफिक पुलिस कर्मी रख रहे यातायात पर नजर, लोगों के बीच नहीं दिखा कोरोना का भय.

दीपावली पर्व को चंद दिन ही शेष रह गए हैं। चूँकि दीपावली दीयों का पर्व है और बिना दीयों के दीपावली का पर्व अधूरा रहता है। इसलिए दीपावली का बाजार रंग-बिरंगे डिजाइनर दीयों, लक्ष्मी-गणेश की मूर्तियों, लाई-बताशा, रंगोली सहित सभी किस्मों के पूजन व सजावटी सामग्रियों से सज चुका है। रविवार को पारम्परिक बाजारों में खरीददारी करने जमकर भीड़ उमड़ी। कोरोना को तो जैसे लोग भूल ही गए। लार्डगंज, गंजीपुरा, फुहारा, अंधेरदेव आदि स्थानों पर कई बार जाम के हालात निर्मित हुए।

रविवार से ट्रैफिक पुलिस ने पारम्परिक बाजारों में वन-वे की व्यवस्था को दरकिनार कर कारों का प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया। इससे बाजारों में दिन के समय राहत रही, लोगों ने आराम से खरीददारी की। तुलाराम चौक, मालवीय चौक, कछियाना आदि मार्गों पर प्वॉइंट्स लगाते हुए कार चालकों को आगे जाने से रोका गया ताकि बाजारों में जाम के हालात निर्मित न हों।

लेकिन शाम 4 बजे के बाद गंजीपुरा, अंधेरदेव और फुहारा के समीप अचानक बढ़ी भीड़ से लोग हलाकान जरूर हुए। इसकी वजह सड़क पर फेरी लगाकर बैठने वाले थे, जिनकी वजह से मार्ग सँकरा हो रहा था। रही सही कसर इनके यहाँ खरीददारी के लिए पहुँचने वालों ने पूरी दी। जो अपने वाहन बीच सड़क पर खड़े कर खरीददार में जुट गए। ये मुख्यत: जाम की वजह बनते हैं।

शहर में ऐसी होगी पार्किंग व्यवस्था
ट्रैफिक पुलिस ने मालवीय चौक की तरफ से आने वाले चार पहिया वाहनों को श्रीनाथ की तलैया, तुलाराम चौक। करमचंद चौक की तरफ से आने वाले वाहनों को अंजुमन इस्लामिया स्कूल व कछियाना की ओर से प्रवेश लेने वाले चार पहिया वाहनों को गोलबाजार के चारों तरफ खड़े करने के नर्देश दिए हैं। ताकि पारम्परिक बाजारों को जाम मुक्त रखा जा सके।

पूरे शहर के हाल-बेहाल

अब तक तो सिर्फ पारम्परिक बाजारों की बात हो रही है, लेकिन देखा जाए तो इन दिनों पूरे शहर की सड़कों से निकलना मुहाल हो रहा है। लगभग सभी दुकानदारों ने अपनी दुकानों के बाहर के अधिकांश हिस्सों पर कब्जा कर आगे तक बढ़ा लिया है, बाकी जगह पर उनके यहाँ आने वाहन खड़े हो जाते हैं। इसके कारण सड़कों से निकलना दुश्वार हो रहा है। नौदरा से तैयब अली रोड, नौदरा से तीन पत्ती, जयंती कॉम्प्लैक्स के सामने, मालवीय चौक, गोरखपुर, कटंगा आदि स्थानों के हाल बेहद बुरे हो गए हैं। देखा जाए तो नवरात्रि से बुरा हाल दीपावली पर सड़कों का हो रहा है।

सदर बाजार

यादगार चौक से टीआई क्रॉसिंग सड़क।
टैगोर गार्डन के सामने।
सेंट जोसफ स्कूल के सामने वाला ग्राउण्ड।

गोरखपुर बाजार

छोटी लाइन फाटक के समीप ग्राउण्ड।
कपूर क्रॉसिंग से आजाद चौक तक सड़क के दोनों ओर।
आजाद चौक से गुलाटी पेट्रोल पंप की तरफ सड़क के दोनों तरफ।

गढ़ा क्षेत्र

इमरती तालाब के सामने।
शाही नाका रोड सुलभ कॉम्प्लैक्स के सामने। पी-2

बाजारों में पैदल मार्च कर स्लोगन के जरिए दिया "सेफ दीपावली' का संदेश
युवा ट्रैफिक फोर्स ने लोगों को किया जागरूक
त्योहारों के पूर्व कोविड महामारी से बचाव के संबंध में सरकार की गाइडलाइन का पालन सुनिश्चित किए जाने के उद्देश्य से रविवार को युवा ट्रैफिक फोर्स ने लोगों को जागरूक करने का कार्य किया, इसके लिए यातायात थाने से शुरू कर शहर के बाजारों में पैदल मार्च किया और नागरिकों को पोस्टर्स, स्लोगन्स व नारों के माध्यम से समझाइश भी दी।

इसमें सभी को दीपावली के त्योहार को घरों पर ही मनाने की अपील करते हुए, मास्क पहनना, 2 गज की दूरी बनाए रखना, साबुन और खासकर सेनिटाइजर का आग से बचते हुए उपयोग करना आदि शामिल था। युवा ट्रैफिक फोर्स के अमन गंगराड़े ने बताया कि पटाखे से निकलने वाला प्रदूषण वातावरण को दूषित करता है। इसलिए कोविड महामारी को देखते हुए इस बार की दीपावली बिना पटाखों के मनाएँ। यह पूरा कार्यक्रम डीएसपी बीपी सलोकी के निर्देशन में हुआ।