कमलनाथ ने सवा साल में सवा रूपए के विकास कार्य भी नहीं कराएः शिवराज सिंह चौहान - eaglenews24x7

Breaking

कमलनाथ ने सवा साल में सवा रूपए के विकास कार्य भी नहीं कराएः शिवराज सिंह चौहान


भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और विकास कार्यों का कोई तालमेल नहीं था। यही कारण रहा कि कमलनाथ प्रदेश में सवा साल तक मुख्यमंत्री रहे, लेकिन उन्होंने सवा रूपए के विकास कार्य नहीं कराए। बल्कि जो काम भाजपा सरकार ने शुरू किए थे उन्हें भी बंद करवा दिया। कमलनाथ ने विकास कार्य तो कोई करवाए नहीं हमारी कई योजनाओं को भी बंद कर दिया। ये योजनाएं प्रदेश के गरीबों, किसानों, माताओं-बहनों, बेटियों, बुजुर्गों और युवाओं के लिए संचालित थीं, लेकिन कमलनाथ ने उनसे यह हक भी छीन लिया। उन्होंने प्रदेश की जनता के साथ गद्दारी की, छलकपट किया, धोखा दिया। इन उपचुनावों में प्रदेश की जनता के साथ हुए अत्याचारों का बदला लेना है। कमलनाथ और कांग्रेस के नेता हमें गालियां बकते हैं, नालायक कहते हैं, नंगा-भूखा कहते हैं, लेकिन कमलनाथ-कांग्रेस की गालियां भी हमें शुभकामनाएं लगती हैं। ये बातें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कही। वे उपचुनाव प्रचार के अंतिम दिन रविवार को हाटपिपल्या, सुवासरा के शामगढ़, आगर एवं ब्यावरा में भाजपा प्रत्याशियों के समर्थन में रोड शो के बाद सभाओं को संबोधित कर रहे थे।

फूल बिछाए हैं, कांटे कभी नहीं रहने दूंगा-
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मेरे लिए मेरी माताओं, बहनों ने रास्ते में फूल बिछाए हैं, बेटियों ने दीपक जलाकर आरती उतारी है, तिलक लगाकर मेरा स्वागत किया है, मैं उनके रास्ते में कांटे कभी नहीं रहने दूंगा। बेटियों की जिंदगी में कभी अंधेरा नहीं रहने दूंगा। भाजपा की सरकार विकास और कल्याण के कार्यों में कोई कमी नहीं रहने देगी। भाजपा सरकार ने गरीबों, किसानों, महिलाओं, बुजुर्गों और युवाओं का दर्द समझा है और उनके विकास एवं कल्याण के कार्यों को करने का काम किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने बेटियों के कन्यादान के लिए मुख्यमंत्री कन्यादान योजना शुरू की थी, लेकिन कमलनाथ ने मुख्यमंत्री बनने के बाद उस राशि को 51 हजार रूपए कर दिया। बेटियों की शादी हो गई, वे ससुराल चलीं गईं और अब तो घर में भांजा-भांजी भी आ गए, लेकिन कमलनाथ के 51 हजार रूपयों का बेटियों को अब भी इंतजार है। उन्होंने कहा कि हमने बहनों के लिए 16 हजार रूपए देने की भी व्यवस्था की थी, ताकि हमारी बहनें गर्भवती होने पर आराम से घर में रहे और लड्डू खाए, लेकिन कमलनाथ ने तो उनसे लड्डू ही छीन लिए। गरीबों के लिए संबल योजना के जरिए अंतिम संस्कार में 5 हजार रूपए देते थे, लेकिन कमलनाथ ने तो ये पांच हजार भी छीन लिए। किसी गरीब की मौत पर परिवार को आर्थिक मदद देने के लिए 4 लाख रूपए देते थे तो कमलनाथ ने यह भी बंद करवा दिए।

व्यापारी उन्नयन बोर्ड और मध्यम वर्ग आयोग बनेगा-
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि व्यापारियों की समस्याओं के लिए जल्द ही प्रदेश में व्यापारी उन्नयन बोर्ड बनाया जाएगा। इसी तरह मध्यम वर्ग के कल्याण एवं उनके विकास के लिए मध्यम वर्ग आयोग भी बनाया जाएगा। हर साल किसानों को 10 हजार रूपए किसान सम्मान निधि दी जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सामान्य वर्ग, अन्य पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति सहित अन्य वर्गों के बच्चों की आईआईटी, आईआईएम, मेडिकल, इंजीनियरिंग सहित अन्य कोर्सों की पढ़ाई की फीस भी भाजपा सरकार भरवाएगी। इसी तरह बेरोजगार युवाओं के लिए सरकारी भर्तियां शुरू की जा रही हैं। पुलिस की भर्ती प्रक्रिया पहले शुरू होगी और बाद में अन्य विभागों में भर्ती की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्थानीय स्तर पर लगने वाले उद्योगों में 75 प्रतिशत रोजगार स्थानीय युवाओं को दिया जाएगा। उन्होंने आगर में सभा को संबोधित करते हुए कहा कि किसानों की मदद के लिए अब सरकार ही बीमा कंपनी बनाएगी, ताकि किसानों को फसल बीमा का लाभ मिल सके, उनके साथ किसी तरह का धोखा न हो। इसी तरह युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए प्रोसेसिंग प्लांट कैसे लग सकते हैं उन पर काम करेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि फल-सब्जी वाले, साइकिल रिक्शा चलाने वाले, जूते पालिश करने वाले, कवाड़ा बीनने वाले सहित अन्य छोटे-छोटे व्यापार करने वालों के लिए स्ट्रीट वेंडर योजना शुरू की है। इसके जरिए सभी को 10-10 हजार रूपए बैंकों से दिलाए जाएंगे, ताकि वे अपना काम-धंधा शुरू कर सके।

गालियों को भी हम शुभकामनाएं समझते हैं-
मुख्यमंत्री ने कहा कि कमलनाथ और कांग्रेस नेता हमें गालियां दे रहे हैं। कमलनाथ नालायक कह रहे हैं, इनके एक नेता हमें नंगा-भूखा कह रहे हैं। लेकिन इनकी गालियों को हम शुभकामनाएं समझते हैं। उन्होंने कहा कि कमलनाथ-कांग्रेस के पास चुनाव में कोई मुद्दे नहीं हैं, इसलिए उन्होंने गालियों को ही मुद्दा बनाया है। कमलनाथ कहते हैं कि शिवराज सिंह तो नारियल का ट्रक लेकर चलता है और कहीं भी फोड़ देता है, लेकिन उनकी तो किस्मत ही फूटी हुई है। वे क्या नारियल फोड़ेंगे। हम विकास के कार्य कराते हैं तो नारियल फोड़ते हैं, घर-घर पानी पहुंचाते हैं तो नारियल फोड़ते हैं। कमलनाथ ने धेले का काम कराया नहीं तो वे क्या नारियल फोड़ेंगे? उन्होंने कहा कि राजनीति सेवा के लिए होती है, लेकिन कमलनाथ-कांग्रेस ने तो इसे अपने एजेंडों के लिए हथियार बनाकर रखा हुआ है। कांग्रेस का मतलब ही विकास नहीं विनाश है। कमलनाथ-कांग्रेस ने प्रदेश की जनता को त्रास दिए हैं, कष्ट दिए हैं, धोखा दिया है, छल-कपट किया है, लेकिन प्रदेश की जनता उनको सबक सिखाएगी।

कमलनाथ-दिग्गी मांग रहे हैं हमसे हिसाब-
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस के मिस्टर बंटाढार पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और कमलनाथ ने प्रदेश के विकास के लिए तो कुछ नहीं किया, लेकिन वे हमसे हिसाब मांग रहे हैं। तो सुनो दिग्विजय सिंह और कमलनाथ 2003 से पहले प्रदेश का बजट था 21 हजार करोड़ रूपए का, लेकिन हमने इसे 2 लाख करोड़ से ज्यादा का किया है। प्रदेश का सकल घरेलू उत्पाद 98 हजार करोड़ था, जिसे हमने 7 लाख 7 हजार करोड़ पर पहुंचाया है। 2003 से पहले मिस्टर बंटाढार के राज में प्रति व्यक्ति आय 15 हजार रूपए थी, जिसे हमने 80 हजार रूपए पर पहुंचाया है। 2003 से पहले सड़कों में गड्ढे थे या गड्ढों में सड़कें थीं, पता ही नहीं चलता था, लेकिन भाजपा की सरकार ने 15 वर्षों में 2 लाख किलोमीटर से ज्यादा सड़कें बनवाई है। गांव-गांव में सड़कों का जाल फैलाया है तो सड़कों को हाईवे से जोड़ा है। किसानों के लिए पानी नहीं था। कांग्रेस के शासनकाल में 7 लाख हेक्टेयर जमीन पर सिंचाई होती थी, लेकिन भारतीय जनता पार्टी की सरकार और मामा ने 41 लाख हेक्टेयर जमीन पर सिंचाई की व्यवस्था कराई है। कांग्रेस सरकार में बिजली आती कम थी और जाती ज्यादा थी। 2-3 घंटे ही बिजली मिल पाती थी, लेकिन हमने 24 घंटे बिजली देने की व्यवस्था की है। आज प्रदेश में बिजली, पानी और सड़कों की कोई समस्याएं नहीं हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के शासन में किसानों की स्थिति बेहद दयनीय थी, वे आत्महत्याएं करते थे, लेकिन हम पांच वर्षों से कृषि कर्मण अवार्ड ला रहे हैं। कृषि उत्पादन में मध्यप्रदेश ने पंजाब की बराबरी कर ली है।

पाप कांग्रेस ने किया है, प्रायश्चित मामा करेगा-
मुख्यमंत्री ने कहा दिग्विजय सिंह और कमलनाथ ने प्रदेश की जनता के साथ गद्दारी की है। हमने सोचा था कि ये 15 साल बाद सरकार में आए हैं तो कुछ काम करेंगे, लेकिन उनके पाप का घड़ा 15 माह में ही भरा गया। कांग्रेस ने प्रदेश की जनता के साथ पाप किया है, लेकिन कांग्रेस के पापों का प्रायश्चित उनका मामा करेगा। उन्होंने कहा कि कमलनाथ ने किसानों के साथ छलावा किया है। कर्जमाफी का वादा करके उनको कर्जदार बना दिया है, लेकिन किसान भाइयों चिंता मत करना बैंकों का ब्याज मामा शिवराज सिंह चौहान भरेगा।

नहीं चलने देंगे कमलनाथ-कांग्रेस के अनैतिक काम-
मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार का काम तोड़ना नहीं, जोड़ना है, बसाना है, लेकिन कमलनाथ-कांग्रेस ने तो गरीबों के मकान तोड़े हैं, उनका हक छीना है। हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ढाई लाख गरीबों के आवास दिए थे, लेकिन कमलनाथ ने उन गरीबों के घर ही नहीं बनने दिए। प्रदेश के हिस्से की ग्रांट नहीं दी तो गरीबों के सिर से छत चली गई। उन्होंने कहा कि कमलनाथ कहते हैं कि मैं इमरती देवी को आइटम कहता हूं तो जनता ताली बजाती है और चुनाव आयोग कार्यवाही करता है। धिक्कार है कमलनाथ के ऐसे विचारों पर, जो एक मां, एक बहन और एक बेटी के लिए इस तरह की भाषा का उपयोग करते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि नारी का अपमान भारत की संस्कृति नहीं है, यह भारत की परंपरा नहीं है, यह भारत के जीवन मूल्य नहीं है। कमलनाथ ने हमारी बहन इमरती देवी को आयटम कहा, लेकिन उनको यह नहीं मालूम है कि रावण ने भी माता सीता का अपमान किया था। मंदोदरी, विभीषण, मंत्री सुमंत सभी ने रावण को समझाया था। रावण का अहंकार नहीं माना और अंत में रावण का वंशसहित विनाश हो गया। जिसने नारी का अपमान किया उसके कुल में पानी देवा-नाम लेवा कोई नहीं बचा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में गुंडागर्दी चरम पर थी, लूटमार मची हुई थी, लेकिन भाजपा सरकार में इस तरह के कोई भी अनैतिक कार्य नहीं चलेंगे। उनको दुरूस्त किया जाएगा।

काम करने के लिए इच्छाशक्ति जरूरी-
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि विकास कार्य करने के लिए इच्छाशक्ति चाहिए और कमलनाथ के पास यह इच्छाशक्ति कभी नहीं रही। कांग्रेस की सरकारों में कभी भी प्रदेश एवं प्रदेश की जनता के लिए कुछ काम नहीं हुए। 2003 से पहले प्रदेश में मिस्टर बंटाढार का शासन चला तो उन्होंने पूरे प्रदेश को ही बंटाढार कर दिया। 15 माह कमलनाथ ने सरकार चलाई तो इन्होंने वल्लभ भवन को दलालों की मंडी बना दिया। उनके पास मंत्री-विधायकों से मिलने का समय नहीं रहता था, लेकिन उद्योगपति और दलालों के लिए समय ही समय था। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भाजपा सरकार ने हमेशा से जनता के कल्याण और विकास के कार्यों को प्राथमिकता से पूरा करने का काम किया है। प्रदेश में 15 माह कमलनाथ की सरकार रही, लेकिन उन्होंने 15 रूपए के विकास कार्य नहीं किए। जब यहां के विधायक उनके पास विकास कार्यों के लिए जाते थे, तो वे पैसों का ही रोना रोते थे और कहते थे कि खजाना खाली है चलो... चलो...। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना काल के कारण कुछ दिक्कतें जरूर हैं, लेकिन विकास कार्यों, लोगों के कल्याण के कार्यों के लिए हमारा खजाना हमेशा भरा हुआ है। हमने कोरोना काल में भी विकास कार्यों को करने में कोई कमी नहीं की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा सरकार ने जनता के हितों के लिए जिन योजनाओं को शुरू किया था कमलनाथ ने उन सभी योजनाओं को बंद कर दिया और सिर्फ तबादला उद्योग, लूटमार, मकानों की तोड़ाफोड़ ही चलती रही।

रोड शो में मुख्यमंत्री के स्वागत के लिए उमड़ा जनसैलाब-
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हाटपिपल्या में भाजपा प्रत्याशी मनोज चौधरी, सुवासरा के शामगढ़ में भाजपा प्रत्याशी हरदीप सिंह डंग और आगर में भाजपा प्रत्याशी बंटी उंटवाल के समर्थन में रोड शो किया। हाटपिपल्या में रोड शो की शुरूआत देवगढ़ चैराहा से हुई। इसके बाद रोड शो नगर के प्रमुख मार्गों से होते हुए बस स्टैंड पहुंचा, जहां पर मुख्यमंत्री ने सभा को संबोधित किया। इस दौरान अपने लाड़ले मुख्यमंत्री का स्वागत करने के लिए हाटपिपल्या की सड़कों पर जनसैलाब उमड़ पड़ा। लोग घरों की छतों से लेकर सड़कों तक आकर मुख्यमंत्री का स्वागत करते रहे। जगह-जगह उनका तिलक हुआ तो वहीं फूलों की वर्षा भी लगातार होती रही। मुख्यमंत्री ने भी हर व्यक्ति का शीश झुकाकर अभिवादन किया, उन्हें प्रणाम किया। जनता ने भी अपने मामा शिवराज सिंह चौहान को आशीर्वाद देने में कोई कमी नहीं रखी। रोड शो के रास्ते में कई जगह स्टेज बनाकर लोगों ने उनका स्वागत किया। इस दौरान ढोल-नगाड़ों के साथ लोग रास्ते पर नाचते-गाते रहे और जय-जयकार के नारे भी लगाते रहे। रोड शो के दौरान महिला-पुरूषों के अलावा बड़ी संख्या में भांजे-भांजियों की उपस्थिति भी रही। शामगढ़ में रोड शो की शुरूआत धामनिया गांव से हुई और शामगढ़ के विभिन्न मार्गों से होते हुए रोड शो आड़ा बाजार चौराहा पर समाप्त हुआ। इसी तरह आगर में रोड शो झंडा चौक से शुरू हुआ और अस्पताल चौराहा, भगवान गोपाल मंदिर सहित विभिन्न मार्गों से होते हुए बस स्टैंड पर समाप्त हुआ। यहां पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उपस्थित जनसमूह को संबोधित किया और उनसे जीत का आशीर्वाद भी मांगा।

ये रहे उपस्थित-
इस दौरान सांसद महेंद्र सिंह सोलंकी, सांसद रोडमल नागर, मंत्री मोहन यादव, मंत्री हरदीप सिंह डंग, मंत्री राज्यवर्धन सिंह, पूर्व मंत्री दीपक जोशी, विधायक श्रीमती गायत्री राजे पंवार, विधायक दिलीप सिंह परिहार, युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अभिलाष पांडे, राजीव खंडेलवाल, बंटी उंटवाल, मनोज चौधरी, नारायण सिंह पंवार, नंदकिशोर पाटीदार, विक्रम सिंह पंवार, रायसिंह सेंधव, बद्रीलाल यादव, कुंवर कोठार, श्रीमती गायत्री जसमंत गुर्जर, पंडित हरिचरण तिवारी, मोहन शर्मा, जसमंत गुर्जर, प्रेमशंकर लोवंशी, विष्णु खत्री नरेंद्र सिंह राजपूत, बहादुर मुकाती, बहादुर सिंह चौहान, गोविंद सिंह चौहान सहित पार्टी पदाधिकारी, कार्यकर्ता एवं बड़ी संख्या में लोग उपस्थित रहे।