सात बहनों में इकलौते भाई की करंट से मौत - eaglenews24x7

Breaking

सात बहनों में इकलौते भाई की करंट से मौत


जबलपुर, करंट लगने से युवक की मौत के बाद ग्रामीणों ने जबलपुर-कटंगी रोड जाम कर दिया।गुस्साए ग्रामीणों ने रोड पर जाम लगाकर बिजली कंपनी के ऑफिस में की तोड़फोड़ छह महीने से खेत में झूल रहा है 11 हजार केवी का बिजली तार, शिकायत के बाद भी नहीं किया था ठीक गुरुवार को बिजली कंपनी की लापरवाही से सात बहनों के इकलौते भाई की करंट लगने से मौत हो गई। यह हादसा उस समय हुआ, जब युवक खेत में चारा काटने गया था। इस दौरान पशुओं की भगदड़ से बचने के लिए उसने डंडा उठाया, जो ऊपर झूल रहे 11 हजार केवी की लाइन से छू गया। युवक को करंट का झटका लगा और मौके पर ही उसकी मौत हो गई। खेत में बिजली तार छह महीने से झूल रहा है। ग्रामीण इसकी कई बार शिकायत भी कर चुके थे। हादसे से गुस्साए ग्रामीणों ने 14 मील बोरिया के पास शव रखकर जबलपुर-कटंगी रोड को बंद कर दिया। ग्रामीणों ने बिजली कंपनी के ऑफिस में भी तोड़फोड़ कर दी। लगभग दो घंटे तक ग्रामीणों का प्रदर्शन चला।

तलाश करते पहुंचे पिता ने देखा मृत
पनागर पुलिस के अनुसार निरंदरपुर निवासी अनिकेत पटेल (28) खेती करता था। वह दोपहर में खेत में चारा काटने गया था। उसके खेत से 11 हजार केवी की लाइन गुजरी है। बारिश में पोल तिरछे हो गए थे, जिससे तार नीचे तक झूल रहे हैं। दोपहर 12 और एक बजे के बीच में अचानक खेत की ओर कुछ पशु तेजी से दौड़ते हुए आए। अनिकेत ने बचने के लिए डंडा उठाया, जो तार से छू गया। हाईटेंशन लाइन के करंट से अनिकेत की मौके पर ही झुलस कर मौत हो गई। डेढ़ बजे के लगभग पिता भागीरथ पटेल तलाश करते हुए पहुंचे तो बेटे को मृत देख सन्न रह गए। चीख सुनकर गांव के लोग भी जमा हो गए।

दोपहर दो बजे रोड किया जाम
अनिकेत पटेल सात बहनों में इकलौता भाई था। उसकी मौत से परिवार सहित पूरे गांव में मातम छा गया। गुस्साए ग्रामीण शव लेकर 14 मील बोरिया पहुंचे और रोड जाम कर दिया। बिजली ऑफिस में घुसकर तोड़फोड़ करने सहित जूनियर इंजीनियर के साथ भी मारपीट कर दी। दो घंटे तक ग्रामीणों का प्रदर्शन चला। शाम चार बजे के लगभग कटंगी पुलिस पहुंची, तब जाम समाप्त हुआ। घटनास्थल के चलते मामले की जांच पनागर पुलिस कर रही है। कंपनी के ग्रामीण अधीक्षण अभियंता अरविंद चौबे ने कहा खेत में धान की फसल के चलते काम करने से पूर्व में टीम को रोका गया था। बिजली कंपनी मामले में आर्थिक क्षतिपूर्ति देगी।