त्योहारों को ध्यान में रखते हुए एंटी कोरोना टास्क फोर्स की बैठक संपन्न - eagle news

Breaking

त्योहारों को ध्यान में रखते हुए एंटी कोरोना टास्क फोर्स की बैठक संपन्न


जबलपुर, कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा की अध्यक्षता में आज कलेक्टर सभागार में एंटी कोरोना टास्क फोर्स की बैठक आयोजित की गई। इस दौरान पुलिस अधीक्षक श्री सिद्धार्थ बहुगुणा, अतिरिक्त कलेक्टर सर्वश्री संदीप जी आर, हर्ष दीक्षित, राजेश बाथम, बी पी दिवेदी सहित सभी अनुविभागीय अधिकारी व तहसीलदार उपस्थित थे।

बैठक में कलेक्टर श्री शर्मा ने कहा कि लोगों को कोविड-19 से बचाना पहली प्राथमिकता है। कोविड को दृष्टिगत रखते हुए आगामी त्योहारों को सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क के साथ व्यवस्थित, शांतिपूर्वक व सुरक्षित तरीके से मनाये। कोविड को देखते हुये सावधानी अवश्य बरते जिससे कोविड का फैलाव न हो। उन्होंने कहा कि दुर्गा उत्सव कार्यक्रम तथा पंडाल आदि की अनुमति अनिवार्य रूप से एसडीएम से लें। दुर्गा उत्सव व विसर्जन के दौरान मेला व जुलूस का स्वरूप न हो साथ ही किसी भी समिति को गरबा व भंडारे की अनुमति नही होगी।विसर्जन एक नियत स्थान पर तथा इसमें अधिकतम 10 व्यक्ति ही होंगे। विसर्जन के लिए भी अनुमति आवश्यक है। विसर्जन के लिए नगर पालिक निगम, होमगार्ड व स्थानीय अधिकारियों के सहयोग मिलेगा। दुर्गा उत्सव समिति द्वारा ही अपने स्तर से समस्त व्यवस्था की जायेगी।

त्योहारों में भीड़ न बढ़े और कोविड संक्रमण का फैलाव न हो इस उद्देश्य से त्योहारों की तैयारियों के संबंध में आयोजित इस बैठक में सभी आवश्यक दिशा निर्देश दिए और उन का सख्ती से पालन के निर्देश भी दिए गए और कहा गया है कि इन दिशा-निर्देशों या शर्तों का पालन न करने पर धारा 144 के तहत कार्यवाही भी की जा सकती है। बैठक में यह कहा गया कि ज्यादातर यह कोशिश करें कि पंडाल छोटा हो तथा सड़क में ना हो इसकी अच्छे से कार्ययोजना तैयार कर लिया जाए कि कौन सी मूर्ति, किस तरह के हैं, कहां स्थापित हो रहा है ,उसका विसर्जन कहां होगा ?इसकी पूरी जानकारी संबंधित एसडीएम रखें और व्यवस्थित व शांतिपूर्वक तरीके से त्योहार को संपन्न कराएं। बैठक के दौरान कहा गया है कि भीड़ को नियंत्रित करने के लिए तथा कोविड संक्रमण से बचाव के लिए देवी मंदिरों या देवी उत्सव की ऑनलाइन दर्शन की व्यवस्था की गई है ।गांव में भी इस प्रकार की व्यवस्था की जा सकती है। गांव के लोग शहरों में इस दौरान आने से बचें क्योंकि भीड़ में संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है अतः संबंधित ग्राम के सचिव, कोटवार आदि के माध्यम से लोगों में कोरोनावायरस से बचाव के संबंध में जागरूकता लाएं। बैठक में कहा गया कि उत्सव के दौरान एंबुलेंस, मेडिकल टीम व फायर ब्रिगेड तैयार रहें।

कलेक्टर श्री शर्मा ने कहा कि उत्सव के दौरान भंडारा नहीं होगा यदि कोई आयोजन समिति प्रसाद देना ही चाहे तो वह सूखे रूप व पैकेट में दे सकते हैं किंतु श्रद्धालु प्रसाद लेकर वहां भीड़ ना लगाएं। इस संबंध में उन्होंने कहा कि कोरोना को दृष्टिगत रखते हुए उत्सव से जुडी बहुत सी बातें आयोजन समितियों से समय पूर्व बातचीत कर समन्वय से निराकरण करें। बैठक के दौरान रामलीला, दशहरा व ईद की तैयारियों पर भी चर्चा की गई और उन्होंने विशेष रूप से कहा कि हर थाना क्षेत्र में एक चेकिंग पॉइंट बनाया जाए और रोको टोको अभियान को और प्रभावी कर , मास्क न लगाने वालों पर फ़ाइन लगाएं। इस दौरान पुलिस अधीक्षक श्री बहुगुणा ने भी त्योहारों को शांतिपूर्ण व व्यवस्थित तरीके से मनाने के संबंध आवश्यक सावधानियों के बारे में जानकारी दी।