ईवीएम में राजद के चिह्न के सामने नहीं था बटन, मुंगेर में 3 घंटे 13 मिनट तक पार्टी प्रत्याशी को एक भी वोट नहीं पड़ा - eaglenews24x7

Breaking

ईवीएम में राजद के चिह्न के सामने नहीं था बटन, मुंगेर में 3 घंटे 13 मिनट तक पार्टी प्रत्याशी को एक भी वोट नहीं पड़ा


बिहार, मुंगेर का महादेवपुर सामुदायिक भवन स्थित बूथ, जहां ईवीएम बदली गई। मुंगेर विधानसभा के बूथ संख्या 231 सामुदायिक भवन महादेवपुर नौवागढ़ी पर लगी ईवीएम पर राजद प्रत्याशी के सामने चुनाव चिह्न तो था, लेकिन उसे दबाने वाला बटन नहीं था। बुधवार सुबह वोटिंग करने पहुंचे लोगों ने जब शिकायत की तब 3 घंटे 13 मिनट बाद ईवीएम मशीन को बदला गया। हालांकि इस दौरान 3 घंटे 13 मिनट तक हुई वोटिंग में एक भी वोट राजद प्रत्याशी को नहीं मिल सका।

मामले में मुंगेर सदर सीट के राजद प्रत्याशी अविनाश कुमार विद्यार्थी के चुनाव प्रभारी शिशिर कुमार लालू ने कहा- हमने मामले की शिकायत निर्वाचन अधिकारी से की। लेकिन उसके बाद भी मशीन बदलने में 3 घंटे 13 मिनट की देरी हुई। इस दौरान मतदान भी बंद नहीं किया गया। ऐसे में एकतरफा वोटिंग कराई गई।

महादेवपुर बूथ का मामला, 10:13 बजे बदली ईवीएम

ईवीएम में राजद के चिह्न के सामने बटन नहीं रहने के कारण मतदाताओं में नाराजगी का भाव देखा गया। शुरुआत में जब लोगों ने विरोध जताया तो पहले अधिकारी अनसुना करते रहे। फिर लोगों ने मामले की जानकारी मीडियाकर्मियों को दी। मीडियाकर्मियों को भी वहां पर तैनात दंडाधिकारी एवं पुलिस अधिकारी ने अंदर प्रवेश करने से रोक दिया। मीडियाकर्मियों द्वारा इसकी सूचना आला अधिकारी को दी गई। उसके बाद 10:13 बजे जिला प्रशासन के अधिकारी दूसरी ईवीएम मशीन लेकर महादेवपुर बूथ पर पहुंचे।

सुबह 7 बजे शुरू हुई थी वोटिंग

इस अजीबोगरीब मामले में प्रिजाइडिंग ऑफिसर और पोलिंग एजेंट के बीच गलतफहमी दिखी। प्रिजाइडिंग ऑफिसर प्रदीप कुमार ने कहा कि 7 बजे सुबह पोलिंग स्टार्ट हुई। 10 बजे तक 58 वोट हुए। राजद के लालटेन वाले चुनाव चिह्न के सामने बटन तो था लेकिन उसके ऊपर क्लिप नहीं लगा था। पोलिंग एजेंट की शिकायत पर नई इवीएम पहुंचाई गई।
639 वोटरों में से 242 ने डाले वोट, 42% हुई कुल वोटिंग

नई ईवीएम आने के बाद मतदान हुआ। इस केंद्र पर 639 मतदाता हैं। जिनमें से 242 मत डाले गए। कुल 42% मतदान हुआ। वहीं खराब मशीन से मतदान की बाबत प्रिजाइडिंग ऑफिसर ने कहा कि पोलिंग एजेंट की सहमति तथा वरीय अधिकारियों के निर्देश पर इस दौरान मतदान जारी रखा गया। दूसरी तरफ, पोलिंग एजेंट मनीष कुमार ने कहा कि मतदान रोकने के लिए बोल दिया गया था।