आदिम जाति कल्याण विभाग में योजनाओं का कम्प्यूटराईजेशन आदिवासी वर्ग के हितग्राहियों के आधार लिंक बैंक खातों में हो रहा है भुगतान - eagle news

Breaking

आदिम जाति कल्याण विभाग में योजनाओं का कम्प्यूटराईजेशन आदिवासी वर्ग के हितग्राहियों के आधार लिंक बैंक खातों में हो रहा है भुगतान


जबलपुर, आदिम जाति कल्याण विभाग में आदिवासी वर्ग के हितग्राहियों को योजनाओं का लाभ आनलाईन डी.बी.टी. (डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर) के माध्यम से दिये जाने के लिये योजनाओं का कम्प्यूटराईजेशन किया गया है। इस काम के हो जाने से हितग्राही के आधार लिंक बैंक खाते में योजनाओं का भुगतान किया जा रहा है।

योजनाओं में हितग्राही प्रोफाइल पंजीकरण के अंतर्गत आदिवासी वर्ग के 9 लाख 40 हजार हितग्राहियों का प्रोफाइल पंजीकरण किया गया है। पोस्ट मेट्रिक छात्रवृत्ति योजनाओं के अंतर्गत वर्ष 2019-20 में 78 हजार 688 विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति/ शिष्यवृत्ति की 115 करोड़ की राशि डी.बी.टी. के माध्यम से उनके आधार लिंक बैंक खाते में भुगतान किया गया है।

विभाग की एक अन्य आवास योजना में वित्तीय वर्ष 2019-20 में 29 हजार 871 विद्यार्थियों को 36 करोड़ 76 लाख रूपये की राशि डी.बी.टी. के माध्यम से उनके बैंक खातों में भुगतान की गई है। प्रतिभा योजना के अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2019-20 में 34 विद्यार्थियों को 9 लाख रूपये की राशि उनके बैंक खातों में भुगतान की गई है।

शिक्षक प्रोफाईल पंजीकरण के अंतर्गत अध्यापक संवर्ग के 55 हजार अध्यापकों का विभाग में आनलाईन संविलियन आदेश जारी किया गया है। आदिम जाति कल्याण विभाग की छात्रावास योजना के अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2019-20 में 1563 विभागीय छात्रावासों में 57 हजार 274 विद्यार्थियों को करीब 75 करोड़ रूपये की राशि आनलाईन भुगतान किये जाने के लिये ऑनबोर्ड की गई है।