सुपर स्पेशलिटी अस्पताल का सुपर कारनामा,जूनियर डॉक्टरों ने एसएएफ जवान के साथ की मारपीट,आखिर क्यों हुआ जानें... - eaglenews24x7

Breaking

सुपर स्पेशलिटी अस्पताल का सुपर कारनामा,जूनियर डॉक्टरों ने एसएएफ जवान के साथ की मारपीट,आखिर क्यों हुआ जानें...

सुपर स्पेशलिटी अस्पताल का सुपर कारनामा,जूनियर डॉक्टरों ने एसएएफ जवान के साथ की मारपीट.....


कोरोना योद्धाओं के बीच सामंजस्य बैठाने के बाद दर्ज हुआ काउंटर केस,9 नामजद डॉक्टरों पर दर्ज हुआ मामला,..

रीवा के सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में आज जूनियर डॉक्टरों का सुपर कारनामा सामने आया है जहां पर जूनियर डॉक्टरों के द्वारा अपने सीनियर अफसर का इलाज कराने आए एसएएफ के जवान के साथ मारपीट कर दी गई जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस की टीम तथा प्रशासनिक बल के द्वारा समझाइश देते हुए मामले को शांत कराया गया हालांकि पुलिस ने एसएएफ जवान की तरफ से मामला पंजीबद्ध करने की बात कही है,फिलहाल आपदा की इस घड़ी को देखते हुए दोनों पक्षों में सामंजस्य बैठाने कीकवायद शुरू है।

कोरोना वायरस के संक्रमण ने जहां देश और दुनिया को हिला कर रख दिया है ऐसे में पुलिसकर्मी और डॉक्टर दोनों ही कोरोना योद्धा की भूमिका निभा रहे हैं इस बीच रीवा के सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में जूनियर डॉक्टरों का अमानवीय चेहरा भी सामने आया है जहां पर अस्पताल में तैनात जूनियर डॉक्टरों के द्वारा आज अस्पताल के भीतर ही ड्यूटीरत एसएएफ जवान के साथ मारपीट की गई है,जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस और प्रशासनिक टीम ने जोर आजमाइश दिखाते हुए दोनों ही पक्षों को समझाने की कोशिश की हालांकि पुलिस की टीम ने बाद में पीड़ित पक्ष की तरफ से मामला पंजीबद्ध करने की भी बात कही है। 

दरअसल एस आई एस एफ भटलो में तैनात एसएएफ नवी बटालियन का जवान आकाश साहू अपने सीनियर अफसर के इलाज को लेकर सुपर स्पेशलिटी अस्पताल पहुंचा था जहां पर इलाज में जल्दबाजी को लेकर डॉक्टरों और पुलिसकर्मी के बीच कहासुनी हो गई तथा आपस में विवाद इतना बढ़ गया कि डॉक्टरों ने 10 की संख्या में एकत्रित होकर एसएएफ जवान के साथ मारपीट शुरू कर दी बताया जा रहा है कि डॉक्टरों के द्वारा तकरीबन 1 घंटे तक जवान आकाश साहू को कमरे के अंदर बंधक बनाकर पीटा गया जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस की टीम और प्रशासनिक टीम ने मामले पर आपसी सामंजस्य बनाए रखने की बात कही।

अंत में जब मामला शांत नहीं हुआ तो दोनों ही पक्षों से काउंटर केस दर्ज किया गया जिसमें सुपर स्पेशलिटी अस्पताल  9 जूनियर डॉक्टर पर केस दर्ज हुआ और वही पर जूनियर डॉक्टर की शिकायत पर एसएएफ जवान पर शासकीय कार्य में बाधा डालने  का मामला दर्ज करते हुये मामले को विवेचना पर लिया गया।