पूर्व मंत्री पीसी शर्मा का बयान,जानें क्या है इनका कहना... - eaglenews24x7

Breaking

पूर्व मंत्री पीसी शर्मा का बयान,जानें क्या है इनका कहना...

पूर्व मंत्री पीसी शर्मा का बयान - 


राजपत्रित कर्मचारियों को कोरोना से बचाने के लिए 15 मई तक मंत्रालय को बंद रखा जाना चाहिए।

हाईकोर्ट के आदेश के बाबजूद भी ना रेमडेसिविर इंजेक्शन मिल रहा है ना ही अस्पतालों को आक्सीजन मिल पा रही है बहुत ही भयानक मंजर सामने आ रहे है सरकार कोई ठोस रणनीति बनाकर कदम उठा ही नही पा रही है।


लोगो को कोई राहत नही मिल पा रही है आक्सीजन को लेकर कई फ़ोन आ रहे है पर सरकार इस ओर ध्यान ही नही दे रही है वही जो फ़ोन कॉल करने पर देर तक रिंगटोन सुनाई देती है उसको बंद किया जाना चाहिए अभी उससे टाइम खराब होता है भले वो कोरोना की जागरूकता के लिये है पर अभी फोन तत्काल लगे इसलिए उसको बन्द किया जाए।


कांग्रेस जिलाध्यक्ष विधायक गण एवं कांग्रेस के सब लोग मिलकर भोपाल कलेक्टर को अस्पतालों में हो रही अव्यवस्थाओं एवं भोपाल के नागरिकों की जान बचाने के लिए ज्ञापन सौंपेंगे।


सोशल मीडिया  पर गोपाल भार्गव द्वारा डॉक्टरों की आवश्यकता के निवेदन पर पी सी शर्मा का बयान-उनका यह प्रयास वंदनीय है एक मंत्री को डॉक्टर कोटे में दो लाख रुपए देकर इलाज करवाना पड़ रहा है तो पूरे प्रदेश में क्या स्थिति होगी ?


मुख्यमंत्री के योग से निरोग कार्यक्रम पर बोले पूर्व मंत्री पी सी शर्मा-जनता को मरण योग में फंसा के अब योग करने चले हैं कब्रिस्तान में और श्मशान घाट में जगह नहीं मिल रही है मुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य मंत्री से बोले कि पब्लिसिटी छोड़ो पहले जो 800 से ज्यादा रेमडेसीविर इंजेक्शन गायब हुए थे उसका क्या हुआ ?


समाचार पत्रों में छप रहा है कि इसमें कई बड़े-बड़े लोग शामिल हैं इसकी जांच सीबीआई से होना चाहिए जब भी विधानसभा सत्र होगा यह प्रश्न अवश्य पूछा जाएगा।


आत्मनिर्भर भारत पर बोले -आत्मनिर्भर भारत बी बन रहा था और मध्यप्रदेश भी ऑक्सीजन प्लांट की बात कर रहे थे तो मुख्यमंत्री ने बाबई में ऑक्सीजन प्लांट का भूमि पूजन किया था।जिसमें एक ईंट नहीं लगी,चुनाव में मध्यप्रदेश और देश लग गया और यही वजह है कि 6 महीने का जो समय मिला था उसका सदुपयोग नहीं होने से आपातकालीन स्थिति बनी।इसके लिए केंद्र सरकार नरेंद्र मोदी मध्य प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जिम्मेदार है।


केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल पर बोले - यह तो हद ही हो गई की एक मरीज ने केवल ऑक्सीजन मांगी केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल से उन्होंने बोला कि दो हाथ दूंगा मैंने तो केवल एक मरीज के लिए डॉक्टर को डांट फटकार लगाई थी इसमें पूरी भाजपा पार्टी हिल गई कि डॉक्टर के साथ दुर्व्यवहार हुआ है इससे मुझ पर एफ आई आर हो गई।


क्या मुख्यमंत्री केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल पर एफ आई आर करेंगे ?