जनसहयोग से करें पोलियो का खात्मा,जाननें के लिये पढ़े पूरी खबर.......... - eaglenews24x7

Breaking


जनसहयोग से करें पोलियो का खात्मा,जाननें के लिये पढ़े पूरी खबर..........

जनसहयोग से करें पोलियो का खात्मा।


मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया राज्यस्तरीय अभियान का शुभारंभ।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज पल्स पोलियो टीकाकरण अभियान के 25 वर्ष पूर्ण होने पर'पोलियो रविवार'और राज्यस्तरीय अभियान के अंतर्गत शिशुओं को पोलियो से बचाव की खुराक पिलाई।मुख्यमंत्री चौहान ने मुख्यमंत्री निवास से दो बूंद जिन्दगी की पिलाने के राज्य स्तरीय अभियान का शुभारंभ किया।इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री डॉ.प्रभुराम चौधरी,स्वस्थ्य आयुक्त डॉ.संजय गोयल,मिशन संचालक एनएचएम छवि भारद्वाज,राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ.संतोष शुक्ला उपस्थित थे।



मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि पोलियो का पूरी तरह खात्मा करने के लिए अभियान में आमजन और स्वैच्छिक संगठनों का सहयोग भी आवश्यक है।मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत पोलियो मुक्त है लेकिन पोलियो कुछ देशों में अभी भी है,और यह फिर लौट भी सकता है।अपने बच्चे की सुरक्षा में कोई चूक न होने दें। पोलियो की खुराक हर बार पिलाएं।पोलियो पर देश की जीत बनाए रखने में योगदान दें।मुख्यमंत्री ने आव्हान किया कि शिशुओं की स्वास्थ्य रक्षा के लिए इस राष्ट्रीय अभियान को सभी लोग मिलकर सफल बनाएं। मुख्यमंत्री चौहान ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को पूरे प्रदेश में टीकाकरण के सुचारू संचालन सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए।


मुख्यमंत्री चौहान ने भोपाल के 4 बच्चों को प्रतीक स्वरूप पोलियो से बचाव की खुराक पिलाई।इन बच्चों में शानवी मालवीय,मेहर भारतीय,अनिरुद्ध सिंह और वीर पुरोहित शामिल हैं।


सक्रिय है बुलौआ टोली।


यह पल्स पोलियो टीकाकरण अभियान का रजत जयंती वर्ष है।वर्ष 1995 से संचालित पल्स पोलियो अभियान के 25 वर्ष पूर्ण हो गए हैं। टीकाकरण का रजत जंयती वर्ष आज पोलियो रविवार के नाम से मनाया जा रहा है।लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने ऐसे युवाओं को पोलियो बूथ पर विशेष रूप से आमंत्रित किया है,जो 1995 में जन्मे हैं।ऐसे युवाओं को बूथ उद्घाटन में शामिल करते हुए उनसे अपने गांव और वार्ड के पांच साल तक के बच्चों को बुलौआ टोली के रूप में सहयोग लेने का आव्हान किया गया है।स्वास्थ्य विभाग ने 25 वर्ष के युवाओं को प्रेरित किया है कि उन्हें उनकी जीवन रक्षा के लिए जिस तरह सहायता मिली,वे भी अन्य शिशुओं को इस अभियान के अंतर्गत खुराक दिलवाने में सहयोगी बनें।वे अपने क्षेत्र के छोटे बच्चों को बूथ तक लाने और दवा पिलवाने में मददगार बनें।इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग द्वारा वर्ष 1995 से लगातार इस अभियान में जुटे अधिकारियों और कर्मचारियों को भी उनकी सेवाओं के लिए प्रशंसित करने का कार्य किया जा रहा है।



पल्स पोलियो अभियान :प्रमुख तथ्य


मध्यप्रदेश में पांच वर्ष तक की आयु के 1.11 करोड़ बच्चों को पोलियो से बचाव की खुराक देने का लक्ष्य है।प्रदेश में कुल 44 हजार 685 बूथ, 2488 ट्रांजिट बूथ,4117 हाईरिस्क एरिया बनाए गए हैं।कुल 89 हजार 370 दल बनाए गए हैं। मोबाइल टीम की संख्या 1609 है।वैक्सीनेटर 89 हजार 370 हैं। सुपर वाइजर्स 8937 हैं।कुल 2802 डीप फ्रीजर की व्यवस्था की गई है।


आज मुख्यमंत्री निवास में राज्यस्तरीय टीकाकरण अभियान के शुभारंभ अवसर पर रोटरी गवर्नर जिनेंद्र जैन,क्लिंटन फाउंडेशन के नितिन कोठारी,राज्य कोल्ड चेन अधिकारी  विपिन श्रीवास्तव,टीम लीडर विश्व स्वास्थ्य संगठन डॉ.अभिषेक जैन,यूनिसेफ की स्वास्थ्य विशेषज्ञ डॉ.वंदना भाटिया,राज्य कार्यक्रम अधिकारी यूएनडीपी डॉ.कपिल जादौन भी उपस्थित थे।




eaglenews24x7

समस्या आपकी संघर्ष हमारा



नोट:eaglenews24x7न्यूज एवं विज्ञापन के लिये जिले एवं तहसील स्तर पर संवाददाता और ब्यूरो नियुक्त करना है।9479681930,9752009923