विकास के लिए बनाई थी कांग्रेस की सरकार, कमलनाथ ने भ्रष्टाचार की लकीर खींच दीः सिंधिया - eaglenews24x7

Breaking

विकास के लिए बनाई थी कांग्रेस की सरकार, कमलनाथ ने भ्रष्टाचार की लकीर खींच दीः सिंधिया


भोपाल। वर्ष 2018 के चुनाव में मैं और शिवराज जी आमने-सामने थे, लेकिन दोनों का उद्देश्य विकास, प्रगति और जनसेवा ही था। जब कांग्रेस की सरकार बनी, तो हमने सोचा था कि ये एक प्रगतिशील, विकासशील सरकार होगी। विकास की जो लकीर शिवराज जी ने इतने सालों में खींची थी, उससे भी लंबी लकीर खींचेगी। कांग्रेस की सरकार बनाने में ग्वालियर-चंबल क्षेत्र की बड़ी भूमिका रही। जनता ने 26 सीटें दीं। हमारी सोच थी कि मुख्यमंत्री कोई भी बने, लेकिन इस क्षेत्र का, प्रदेश का विकास होना चाहिए। मगर कमलनाथ की सरकार ने भ्रष्टाचार की लंबी लकीर खींच दी। वल्लभ भवन को भ्रष्टाचार का अड्डा बना दिया। यह बात भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बुधवार को करैरा, पोहरी, जौरा, सुमावली, मुरैना एवं ग्वालियर में आयोजित सभाओं को संबोधित करते हुए कही।

ट्रांसफर उद्योग शुरू कर दिया
श्री सिंधिया ने कहा कि मैंने सोचा कमलनाथ उद्योगपति हैं। जैसा कांग्रेस के लोग कहते हैं देश-विदेश में उनका नाम है। वो मुख्यमंत्री बने हैं तो प्रदेश में उद्योग आएंगे, निवेश आएगा। लेकिन इन्होंने ट्रांसफर उद्योग शुरू कर दिया। जब भी कोई पटवारी, तहसीलदार, टीआई, शिक्षक कोई भी आता, तो बोलियां लगती थीं। 4 लाख, 8 लाख, 10 लाख। एक-एक अधिकारी के 4-4 बार ट्रांसफर किए गए।

दो-दो मुख्यमंत्री चला रहे थे सरकार
वरिष्ठ नेता सिंधिया ने कहा कि कांग्रेस की सरकार को दो-दो मुख्यमंत्री चला रहे थे। एक सामने रहता था, दूसरा पर्दे के पीछे। एक छोटा भाई-दूसरा बड़ा भाई। उन्होंने कहा कि छोटा भाई और बड़ा भाई की यह जोड़ी 40 साल पुरानी है। जब चुनाव आते हैं, तो बड़ा भाई पर्दे के पीछे चला जाता है। जब सरकार बन जाती है तो छोटा भाई आगे आ जाता है और बड़ा भाई पर्दे के पीछे से सरकार चलाता है। इस जोड़ी ने प्रदेश में शराब उद्योग, रेत का उत्खनन उद्योग शुरू कर दिया।

अन्नदाता से गद्दारी की, तो धूल चटाएंगे
श्री सिंधिया ने कहा कि कांग्रेस ने कहा था किसानों का दो लाख रुपये तक का कर्ज माफ करेंगे। मुझसे भी कहलवाया। ये भी कहा कि अगर 10 दिनों के भीतर कर्ज माफ नहीं हुआ, तो मुख्यमंत्री बदल देंगे। मैंने 10 महीने तक इंतजार किया, लेकिन कर्जमाफी नहीं हुई। जो भी सरकार हमारे अन्नदाताओं से गद्दारी करेगी, उसे धूल चटाने का काम सिंधिया परिवार करेगा। यही, कमलनाथ सरकार के साथ हुआ।

एक तरफ गद्दार, दूसरी तरफ कमल की, कमाल की सरकार
श्री सिंधिया ने कहा कि इस चुनाव में एक तरफ कमलनाथ-दिग्विजयसिंह की वही जोड़ी है, जिसने पूरे प्रदेश के साथ गद्दारी की। दूसरी तरफ शिवराजसिंह जी के नेतृत्व में कमल की, कमाल की सरकार है। शिवराज जी ने मुख्यमंत्री बनते ही वो लॉक तोड़ दिया, जो कमलनाथ-दिग्विजयसिंह की जोड़ी ने प्रदेश के विकास पर लगाया था। उन्होंने आते ही किसानों के खातों में फसल बीमा के पैसे डाले। केंद्र सरकार किसान सम्मान निधि के 6000 रुपये देती है। हमने शिवराज जी से अनुरोध किया, उन्होंने प्रदेश सरकार की तरफ से इसमें 4 हजार की राशि और जोड़ दी। अब हर किसान को 10 हजार रुपये मिलेंगे। श्री सिंधिया ने कहा कि अब शिवराज जी की सरकार है, इसलिए किसानों को चिंता करने की जरूरत नहीं है।

आपके हाथ में दो झंडे, दोनों का मान रखना है
सांसद श्री सिंधिया ने कहा कि भाजपा की सरकार ने आते ही विकास के काम शुरू कर दिये हैं, फिर भी अगर आप लोगों की कोई और मांग है, तो वो भी पूरी होगी। आप आने वाली 03 तारीख को कमल खिलाइये, आपके विकास की चिंता हम करेंगे। श्री सिंधिया ने कहा कि आपके हाथों में दो झंडे हैं। एक झंडा भाजपा का और एक सिंधिया परिवार का। आपको इन दोनों झंडों का मान-सम्मान रखना है। इसके लिए सभी लोग तीन तारीख को एक-एक वोट भाजपा को देकर कमल के फूल को खिलाने का संकल्प लें।