कैलाश विजयवर्गीय के लिए मुसीबत बना 'चुन्‍नू-मुन्‍नू' बयान, EC ने नोटिस जारी कर 48 घंटे में मांगा जवाब - eaglenews24x7

Breaking

कैलाश विजयवर्गीय के लिए मुसीबत बना 'चुन्‍नू-मुन्‍नू' बयान, EC ने नोटिस जारी कर 48 घंटे में मांगा जवाब


भोपाल/ नई दिल्‍ली. मध्‍य प्रदेश में 28 विधानसभा सीटों पर हो रहे उपचुनाव में नेताओं की लगातार जुबान फिसल रही है. इस बीच, भाजपा के राष्‍ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) द्वारा पूर्व सीएम कमलनाथ (Kamalnath) और राज्‍यसभा सांसद दिग्‍विजय सिंह को एक चुनावी सभा के दौरान 'चुन्‍नू-मुन्‍नू' कहने से बवाल मच गया था. जबकि इस बयान को लेकर भारतीय चुनाव आयोग (Election Commission of India) ने विजयवर्गीय से जवाब मांगा है. भाजपा के दिग्‍गज नेता को अपना जवाब 48 घंटे के अंदर देना होगा.

चुनाव आयोग ने कही ये बात
नोटिस के अनुसार इंदौर के सांवेर में 14 अक्टूबर को एक चुनावी सभा में दोनों कांग्रेस नेताओं के खिलाफ दिया गया बयान आचार संहिता के प्रावधानों का उल्लंघन करने वाला पाया गया है. नोटिस मध्य प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी से प्राप्त रिपोर्ट पर आधारित है. नोटिस में कहा गया कि आयोग आपको उक्त कथित बयान पर नोटिस प्राप्त होने के 48 घंटे के भीतर आपका रुख स्पष्ट करने के लिए अवसर प्रदान करता है. ऐसा नहीं होने पर भारतीय चुनाव आयोग आगे आपको कोई सूचना दिये बिना निर्णय लेगा.

इस बार विजयवर्गीय ने कमलनाथ को बताया दरिद्र
यही नहीं, सोमवार को विजयवर्गीय ने एक बार फिर कमलनाथ पर हमला बोला. उन्‍होंने कहा कि कमलनाथ के पास बहुत सारी संपत्ति है, करोड़ों रुपये हैं, पर वह मानसिक रूप से दरिद्र हैं. जब कोई व्यक्ति मानसिक रूप से दरिद्र होता है, तो उसकी शब्दों की दरिद्रता सामने आती है. उन्होंने इमरती देवी पर कमलनाथ की विवादास्पद टिप्पणी को लेकर कहा कि कमलनाथ ने जिस तरह शब्दों की दरिद्रता दिखाई है, उससे मध्य प्रदेश की राजनीतिक प्रतिष्ठा खराब हुई है.

कमलनाथ को भी मिला था नोटिस
इससे पहले भारतीय चुनाव आयोग (Election Commission of India) मध्‍य प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ से भी आइटम बयान के लिए नोटिस जारी कर जवाब मांग चुका है. कमलनाथ ने ग्वालियर के डबरा में हुई एक चुनावी सभा के दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया की समर्थक मंत्री इमरती देवी को लेकर बयान दिया था. कमलनाथ ने डबरा से बीजेपी की उम्मीदवार इमरती देवी को तंज भरे लहजे में 'आइटम' कहकर संबोधित किया था. कमलनाथ ने मंच से अपने भाषण में कहा था कि 'सुरेंद्र राजेश हमारे उम्मीदवार हैं, सरल स्वभाव के सीधे-साधे हैं. यह उसके जैसे नहीं है, क्या है उसका नाम? मैं क्या उसका नाम लूं आप तो उसको मुझसे ज्यादा अच्छे से जानते हैं, आपको तो मुझे पहले ही सावधान कर देना चाहिए था, 'यह क्या आइटम है.'