गंभीर बीमारी से पीड़ित कोरोना संक्रमितों को तत्काल किया जाए अस्पताल में शिफ्ट : राकेश सिंह - eagle news

Breaking

गंभीर बीमारी से पीड़ित कोरोना संक्रमितों को तत्काल किया जाए अस्पताल में शिफ्ट : राकेश सिंह


कोरोना मरीजो के उपचार के साथ वर्तमान और भविष्य की चुनौतियों से निपटने की कार्ययोजना बनायें
जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक सम्पन्न

जबलपुर, कोरोना मरीजों के उपचार की वर्तमान व्यवस्थाओं के साथ-साथ भविष्य की चुनौतियों से निपटने की जा रही तैयारियों की विस्तार से समीक्षा हेतु साँसद श्री राकेश सिंह की अध्यक्षता में आपदा प्रबन्धन समिति की बैठक कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित की गई।

जिला बैठक में समिति के सभी सदस्यों ने मेडिकल एवं विक्टोरिया अस्पताल में आईसीयू और ऑक्सीजन बेड की संख्या बढ़ाने के लिये किये गया प्रयासों की सराहना की। सदस्यों ने कहा अस्पतालों में कोरोना मरीजों के उपचार की क्षमता बढ़ने से लोगों में व्याप्त भय दूर हुआ है और व्यवस्था के प्रति उनका विश्वास बढ़ा है।

सांसद श्री राकेश सिंह बैठक को संबोधित करते हुये कोरोना के संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण के लिये सभी जरूरी कदम उठाने के निर्देश अधिकारियों को दिये, उन्होंने गम्भीर बीमारियों से पीड़ित कोरोना संदिग्ध एवं कोरोना संक्रमित मरीजों की तत्काल अस्पताल में शिफ्टिंग पर जोर देते हुये कहा कि इस बारे में लोगों में भी जागरूकता पैदा की जानी चाहिये ताकि समय रहते ऐसे मरीजों का उपचार प्रारम्भ किया जा सके ।

सांसद ने बैठक में जिला स्तरीय कोरोना कन्ट्रोल एवं कमांड सेंटर की गतिविधियों की जानकारी भी ली । उन्होंने कहा कि कन्ट्रोल रूम से होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना मरीजों के स्वास्थ्य पर निगरानी रखने के साथ-साथ उन्हें जरूरी दवाओं की उपलब्धता भी सुनिश्चित की जाये ।

सांसद श्री सिंह ने बैठक में कहा कि अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि शहर के निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के उपचार की निर्धारित दरों का सूचना पटल पर अनिवार्य रुप से उल्लेख हो, उन्होंने गरीब एवं आर्थिक रूप कमजोर वर्ग मरीजों के उपचार के लिये रेमडिसिवर इंजेक्शन की पर्याप्त उपब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश भी बैठक में दिये। हालांकि श्री सिंह ने कहा कि रेमडिसिवर इंजेक्शन की अब शहर में कमी नहीं है और उन्होंने अपनी सांसद निधि से 5000 हजार इंजेक्शन खरीदने के लिये राशि उपलब्ध कराई है और जल्दी ही ये इंजेक्शन भी उपलब्ध हो जायेंगे ताकि कमजोर वर्ग के लोगों को जरूरत पड़ने पर ये इंजेक्शन दिये जा सकें। यह इंजेक्शन सरकारी अस्पताल में भर्ती मरीजों हेतु उपलब्ध होंगे।

बैठक के प्रारम्भ में पॉवर प्वाइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से जिला आपदा प्रबंधन समिति के सदस्यों को कोरोना मरीजों के उपचार की व्यवस्थाओं को सुदृढ़ बनाने किये जा रहे प्रयासों सहित सेम्पल साइज, पॉजिटिविटी एवं रिकवरी रेट के बारे में तथा भविष्य में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने की आशंका को देखते हुये की जा रही तैयारियों की विस्तार से जानकारी दी गई । समिति के सदस्यों ने कोरोना पर नियंत्रण पाने तथा शासकीय अस्पतालों की क्षमता बढ़ाने की दिशा में किये गये कार्यों की सराहना की ।

बैठक में सदस्यों ने कहा कि मेडिकल एवं विक्टोरिया अस्पताल में आईसीयू और ऑक्सीजन सपोर्टेड बिस्तरों की संख्या बढ़ने से लोगों में बिस्तरों की उपलब्धता को लेकर समाया डर खत्म हुआ है, सदस्यों ने मेडीकल कॉलेज में कोरोना के मरीजों को दिये जा रहे उपचार की यहाँ कोविड वार्ड में तैनात चिकित्सकों एवं सहयोगी स्टॉफ के सेवा भाव की जमकर तारीफ भी की गई। सदस्यों ने कहा कि मेडिकल कॉलेज में कोरोना मरीजों के उपचार की श्रेष्ठ सुविधाओं के प्रति लोगों का भरोसा कायम रखने के लिये यहाँ के उजले पक्ष को भी दिखाया जाना चाहिये।

बैठक में मनमोहन नगर माढ़ोताल स्थित शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सकों को तैनाती तथा ऑक्सीजन सप्लाई लाइन का काम पूरा होते ही कोरोना मरीजों को भर्ती कर उपचार प्रारम्भ करने पर जोर दिया गया। सदस्यों ने कोरोना टेस्ट के सेम्पल देने वाले लोगों को तय समय के भीतर जाँच के परिणामों की जानकारी देने के निर्देश दिये गये। फीवर क्लीनिक को मजबूत बनाने तथा इनमें सर्दी, खांसी, बुखार एवं सांस लेने में तकलीफ वाले मरीजों के उपचार और कोरोना के लक्षण दिखाई देने पर सेम्पल लेने की व्यवस्थाओं को आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में सराहा गया।

कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित की गई इस बैठक में विधायक श्री अजय विश्नोई, श्रीमती नन्दिनी मरावी, श्री सुशील तिवारी इंदू, श्री तरुण भनोट, श्री विनय सक्सेना, श्री संजय यादव पुलिस महानिरीक्षक भागवत सिंह चौहान , कलेक्टर कर्मवीर शर्मा, पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा, जिला पंचायत के सीईओ प्रियंक मिश्रा, अपर कलेक्टर संदीप जी आर, डीन मेडिकल कॉलेज डॉ प्रदीप कसार एवं सीएमएचओ डॉ रत्नेश कुररिया उपस्थित थे।