कोविड-19 अनुकूल व्यवहार परिवर्तन सघन अभियान 30 नवम्बर तक कोरोना संक्रमण से बचाव के प्रति किया जायेगा सजग - eagle news

Breaking

कोविड-19 अनुकूल व्यवहार परिवर्तन सघन अभियान 30 नवम्बर तक कोरोना संक्रमण से बचाव के प्रति किया जायेगा सजग


जबलपुर, कोविड-19 अनुकूल व्यवहार परिवर्तन सघन अभियान बुधवार 7 अक्टूबर से शुरू हुआ। यह अभियान 30 नवम्बर, 2020 तक संचालित किया जायेगा। संचालक राज्य स्वास्थ्य सूचना शिक्षा संचार ब्यूरो ने अभियान से संबंधित निर्देशों को क्रियान्वित करने के लिये सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित किया है। इसके साथ ही निर्देश दिये गये हैं कि विधानसभा उप निर्वाचन-2020 की आदर्श आचार संहिता का पालन करते हुए अभियान में गतिविधियाँ संचालित की जायें।

संचालक राज्य स्वास्थ्य सूचना शिक्षा ब्यूरो ने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे के बीच आर्थिक गतिविधियाँ आरंभ की गई हैं। आत्मनिर्भर भारत की संकल्पना प्रभावशील है। आगामी दिनों में त्यौहार आदि के कारण लोगों के आपस में मिलने-जुलने और एकत्रित होने को ध्यान में रखते हुए कोरोना से बचाव के लिये दो गज की सामाजिक दूरी रखने, घर से बाहर निकलने पर मास्क पहनने, साबुन-पानी से हाथ धोने अथवा सेनेटाइज करते रहने आदि जरूरी बचाव के उपायों को लोगों को बताया जायेगा। इस अभियान में स्वास्थ्य विभाग के साथ ही सभी विभागों के अमले की भागीदारी रहेगी। उन्होंने बताया कि चूंकि प्रदेश में कोविड-19 संक्रमण के प्रकरण लगातार पाये जा रहे हैं और शीत ऋतु के मद्देनजर विशेष सतर्कता बरतने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि इसी आधार पर अभियान की थीम 'सावधानी में ही सुरक्षा है'' और पंचलाइन 'कोरोना से बचने के लिये है जरूरी, मास्क पहने, धोते रहें हाथ, रखें दो गज की दूरी'' है।

समस्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों से कहा गया है कि जिला-स्तर पर कलेक्टर अभियान के समन्वयक रहेंगे। जिले के अन्य विभागों के कार्यालय प्रमुख संबंधित विभाग के लिये नोडल अधिकारी होंगे। जिला-स्तर पर कलेक्टर के मार्गदर्शन और समन्वय से 'कोविड-19 अनुकूल व्यवहार परिवर्तन सघन अभियान'' की गतिविधियों को संचालित किया जाना है। सीएमएचओ को यह भी निर्देश दिये गये हैं कि अभियान के सफलतापूर्वक संचालन के लिये डीएचओ को जिला-स्तर पर और बीएमओ को विकासखण्ड-स्तर पर नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।

नोडल अधिकारी जिला प्रशासन द्वारा प्राप्त मार्गदर्शन के अनुसार अभियान का सफलतापूर्वक संचालन सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने बताया कि कोविड-19 संक्रमण के लक्षण एवं बचाव की रोकथाम के उपायों से आमजन को परिचित कराने के लिये प्रचार-प्रसार की उपयुक्त और व्यापक कार्य-योजना को बनाकर क्रियान्वित किया जाये। अभियान संचालन में सोशल और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का भी सहयोग प्राप्त किया जाये। उन्होंने कहा कि अभियान की विस्तृत गाइडलाइन भी भेजी गई है। समस्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को कोविड-19 संबंधी जानकारी और प्रचार सामग्री को ऑनलाइन उपलब्ध कराकर इसकी लिंक उन्हें भेजी गई है। अभियान की प्रचार-प्रसार गतिविधियों की जानकारी सार्थक लाइट एप पर अपलोड करवाने के लिये भी अधिकारियों को कहा गया है।