कोरोना रुपी महासुर का वध करने में सभी का सहयोग जरुरी-स्वामी गिरिशानंदजी महाराज - eagle news

Breaking

कोरोना रुपी महासुर का वध करने में सभी का सहयोग जरुरी-स्वामी गिरिशानंदजी महाराज


जबलपुर, साकेत धाम ग्वारीघाट के संस्थापक स्वामी गिरिशानंदजी सरस्वती महाराज ने आम नागरिकों से नौ दिवसीय दुर्गा पूजा के दौरान घर में रहकर ही मां देवी की अराधना करने तथा पंडालों एवं मंदिरों में भीड़ के रुप में एकत्रित न होने, फिजिकल डिस्टेंसिंग और मास्क लगाने के नियमों का पालन करने का आग्रह नागरिकों से किया है।

स्वामी गिरिशानंद जी महाराज ने आज एक अपील जारी कर कोरोना संक्रमण से जबलपुर को मुक्त कराने के लिए भक्तों से नवरात्रि के दौरान शासन-प्रशासन द्वारा जारी गाइड लाइन का पालन करने का अनुरोध करते हुए कहा है कि प्रतिवर्ष मां भगवती अनेकों आसुरी प्रकृति का संहार करती हैं। इस वर्ष कोरोना रूपी असुर सारे विश्व को परेशान किये हुए है अत: कोरोना प्रोटोकॉल का पालन कर हम सभी को कोरोना रुपी इस महिषासुर का मर्दन करने में मां दुर्गा का सहयोग करना होगा।

स्वामी जी ने दुर्गा उत्सव समितियों से भी इस वर्ष विशेष परिस्थितियों को देखते हुए मां भगवती की प्रतिमा की स्थापना करने के स्थान पर घट स्थापित करने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि हमारी पंरपरा नौ दिवसीय दुर्गा पूजा के दौरान घट स्थापना की ही रही है। स्वामी जी ने प्रतिमाओं के विसर्जन में भी शासन-प्रशासन की गाइड लाइन का अनुसरण का अनुरोध दुर्गात्सव समितियों से किया है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए विसर्जन जुलूस या शोभायात्रा के स्वरूप में नहीं किया जाना चाहिए। केवल पांच से दस लोग ही प्रतिमा के विसर्जन में शामिल हों। विसर्जन कुंड में ही प्रतिमाओं का विसर्जन हो ताकि मां नर्मदा का जल प्रदूषित न हो।