प्रशासनिक अधिकारियों के दल ने की थोक दवा दुकानों की आकस्मिक जांच - eagle news

Breaking

प्रशासनिक अधिकारियों के दल ने की थोक दवा दुकानों की आकस्मिक जांच



जबलपुर, कलेक्टर कर्मवीर शर्मा के निर्देश पर प्रशासनिक अधिकारियों के दल ने आज कोरोना मरीजों के उपचार में इस्तेमाल की जाने वाली फेविफ्लू और रेमडिसिवर जैसी दवाओं की कालाबाजारी और अवैध स्टॉक रखे जाने की आशंका पर सिविक सेंटर एवं शास्त्री ब्रिज स्थित थोक दवा दुकानों की आकस्मिक जाँच की।

सयुंक्त कलेक्टर नम: शिवाय अरजरिया के नेतृत्व में की गई इस कार्यवाही में राजेश फार्मा, सबूरी फार्मा, जायसवाल फार्मा, मेड़ीनीड एवं कुछ अन्य दुकानों के स्टॉक रजिस्टर की जाँच की गई। इस दौरान दुकान संचालकों को अस्पतालों की रिपोर्ट और बिना डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के किसी को भी फेविफ्लू और रेमडिसिवर जैसे इंजेक्शन न देने के सख्त निर्देश दिये गये। दवा दुकान संचालकों को इन दवाओं की कालाबाजारी की शिकायत मिलने पर सख्त कार्यवाही की चेतावनी दी गई है।

आकस्मिक जांच के दौरान पाया गया कि दवा दुकानों से केवल अस्पतालों को और कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों के लिये रिपोर्ट और डॉक्टरों के प्रिस्क्रिप्शन पर ही उपलब्ध कराया जा रहा है । जांच के दौरान दवा दुकानदारों ने शार्ट सप्लाई की जानकारी भी दी।