स्‍वयं सेवी संगठन जिला प्रशासन के प्रयासों में सहभागी बनें कलेक्‍टर श्री शर्मा ने स्‍वयंसेवी संगठन के पदाधिकारियों से की अपील - eagle news

Breaking

स्‍वयं सेवी संगठन जिला प्रशासन के प्रयासों में सहभागी बनें कलेक्‍टर श्री शर्मा ने स्‍वयंसेवी संगठन के पदाधिकारियों से की अपील



जबलपुर, कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा ने आज शाम कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में बुलाई गई बैठक में स्वयंसेवी संगठनों के पदाधिकारियों से लॉक डाउन की तरह अब अनलॉक की चुनौतियों से भी निपटने के जिला प्रशासन के प्रयासों में सहभागी बनने का आग्रह किया। श्री शर्मा ने स्वयं सेवी संगठनों द्वारा लॉक डाउन के दौरान अलग-अलग तरीकों से जरूरतमन्दों, बेसहारा और प्रवासी मजदूरों की सेवा के किये गये कार्यों की सराहना भी बैठक में की। उन्होंने कहा कि स्वयं सेवी संगठनों द्वारा रेडक्रॉस सोसायटी के बैनर तले किये गये सेवा के कार्यों से संस्कारधानी जबलपुर की देश भर में प्रतिष्ठा बढ़ी है।

कलेक्टर ने बैठक में मौजूद स्वयं सेवी संगठनों के पदाधिकारियों को कोरोना के संक्रमण की रोकथाम लिये किये जा रहे प्रयासों की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि स्वयं सेवी संगठन न केवल इन प्रयासों में बल्कि कोरोना से बचाव के उपायों के प्रति लोगों में जागरूकता पैदा करने के कार्य में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। उन्होंने रोको-टोको अभियान में भी भागीदार बनने का आव्हान करते हुये स्वयं सेवी संगठनों से कहा कि वे अपने-अपने कार्य क्षेत्र में लोगो को मास्क पहनने और फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करने प्रेरित करें। 

श्री शर्मा ने कोरोना को लेकर लोगों में व्याप्त भ्रांतियों को दूर करने और सकारात्मकता पैदा करने की जरूरत बताते हुये कहा कि इस दिशा में भी स्वयं सेवी संगठन अहम भूमिका निभा सकते हैं। उन्होंने इसके लिये सोशल मीडिया का भी इस्तेमाल करने का सुझाव संगठनों को दिया। कलेक्टर ने कोरोना से स्वस्थ हुये लोगों को प्लाज्मा डोनेट करने के लिये प्रेरित करने की बात भी कही। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में ज्यादा काम करने की संभावना है। 

फीवर क्‍लीनिकों को बनाया गया प्रभावी :

कलेक्टर ने फीवर क्लीनिक की व्यवस्था के बारे में भी बैठक में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि शहर में स्थित सभी 21 फीवर क्लीनिकों को और अधिक प्रभावी और सशक्‍त बनाया गया है। यहाँ सर्दी, खांसी, बुखार और सांस लेने में तकलीफ से पीड़ित लोगों को नि:शुल्‍क उपचार देने के साथ-साथ कोरोना संदिग्ध लोगों के सेम्पल भी लिये जा रहे हैं। श्री शर्मा ने रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने लोगों को आयुष काढ़ा और औषधि का वितरण करने के मिले सुझाव का स्वागत करते हुये कहा कि स्वयंसेवी संगठन फीवर क्लीनिक के बाहर स्टाल लगाकर आयुष काढ़ा और औषधियों का वितरण कर सकते हैं। 

बैठक में स्वयं सेवी संगठनों के पदाधिकारियों ने भी कोरोना के संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के उपायों के प्रति लोगों को जागरूक करने के बारे में कई महत्वपूर्ण सुझाव भी दिये। बैठक में जिला रेडक्रॉस सोसायटी के सचिव आशीष दीक्षित भी मौजूद थे।