ऑक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता बनाये रखने जिला प्रशासन के प्रयासों को निजी अस्पताल संचालकों ने सराहा - eagle news

Breaking

ऑक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता बनाये रखने जिला प्रशासन के प्रयासों को निजी अस्पताल संचालकों ने सराहा


आयुक्त मेडिकल एजुकेशन ने स्टोरेज कैपेसिटी बढ़ाने का किया आग्रह
अस्पतालों में मरीजों की भर्ती क्षमता भी बढ़ायें निजी अस्पताल

जबलपुर, निजी अस्पताल संचालकों ने ऑक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता बनाये रखने के जिला प्रशासन के प्रयासों की सराहना की है। संभागायुक्त महेशचन्द्र चौधरी की अध्यक्षता में आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित इस बैठक में आयुक्त चिकित्सा शिक्षा निशांत बरबड़े मौजूद थे। बैठक में कलेक्टर कर्मवीर शर्मा सहित निजी अस्पतालों के संचालक व प्रबंधक उपस्थित थे। बैठक में निजी अस्पताल संचालकों ने कहा कि जबलपुर में ऑक्सीजन की आपूर्ति में न केवल स्थायित्व आया है बल्कि वे अब ऑक्सीजन स्टोरेज करने की स्थिति में भी आ गये हैं।

आयुक्त चिकित्सा शिक्षा निशांत बरबड़े ने बैठक की शुरुआत में शहर के प्रत्येक निजी अस्पताल में ऑक्सीजन सिलेंडर की उपलब्धता की समीक्षा की। श्री बरबड़े ने भी ऑक्सीजन की सप्लाई चेन को बरकरार रखने कलेक्टर कर्मवीर शर्मा की अगुआई में किये गये सार्थक प्रयासों की तारीफ की। आकस्मिक स्थिति में सप्लाई बाधित न हो इसके मद्देनजर उन्होंने अस्पताल संचालकों से खुद के ऑक्सीजन सिलेंडर रखने तथा ऑक्सीजन की स्टोरेज क्षमता बढ़ाने का आग्रह किया। इसके साथ ही उन्होंने भविष्य की जरूरत को देखते हुये निजी अस्पताल संचालकों को ऑक्सीजन जेनरेशन प्लाण्ट भी लगाने कहा है।

आयुक्त चिकित्सा शिक्षा ने बैठक में निजी अस्पताल संचालकों से कहा कि कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुये उन्हें क्षमता का विस्तार करने और ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड की संख्या बढ़ाने पर ज्यादा ध्यान देना होगा। उन्होंने कोरोना मरीजों के उपचार की दिशा में जबलपुर के निजी अस्पतालों के सहयोगात्मक रूख की सराहना भी की। श्री बरबड़े ने प्रदेश के अन्य महानगरों की तुलना में जबलपुर की स्थिति को काफी बेहतर बताते हुये कहा कि निजी अस्पतालों को अब अपने पूरे अस्पताल को कोविड हॉस्पिटल का स्वरूप देने की दिशा में भी आगे बढऩा होगा। उन्होंने कोरोंना मरीजों के उपचार और देखरेख में लगे मेडिकल स्टॉफ को लगातार प्रोत्साहित करने की बात भी कही ।

बैठक में संभागायुक्त श्री चौधरी ने बताया कि जबलपुर में ऑक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति बनी हुई है । बल्कि अब स्थिति यह है कि निजी और शासकीय अस्पताल ऑक्सीजन का स्टोरेज भी कर सकेंगे। श्री चौधरी ने निजी अस्पतालों को ऑक्सीजन के स्टोरेज के लिये जम्बो सिलेंडर क्रय करने के साथ-साथ ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट लगाने की सलाह भी दी। कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा ने भी निजी अस्पताल संचालकों को ऑक्सीजन की नियमित और पर्याप्त आपूर्ति का भरोसा दिया। बैठक में निजी अस्पताल संचालकों ने कोरोंना मरीजों के उपचार की दिशा में शासन और प्रशासन का हर संभव सहयोग का आश्वासन दिया ।बैठक में जिला पंचायत के सीईओ प्रियंक मिश्रा और सीएमएचओ डॉ रत्नेश कुररिया भी मौजूद थे।