सुशांत सिंह ड्रग केस: मुंबई में बारिश के चलते रिया चक्रवर्ती और शौविक की जमानत अर्जी पर सुनवाई टली - eagle news

Breaking

सुशांत सिंह ड्रग केस: मुंबई में बारिश के चलते रिया चक्रवर्ती और शौविक की जमानत अर्जी पर सुनवाई टली


मुंबई | सुशांत सिंह राजपूत मौत से जुड़े ड्रग्स केस में जेल में बंद रिया चक्रवर्ती की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। मुंबई में मूसलाधार बारिश की वजह से रिया चक्रवर्ती और भाई शौविक चक्रवर्ती की जमानत याचिका पर बॉम्बे हाईकोर्ट में आज सुनवाई नहीं होगी। दरअसल, रिया चक्रवर्ती और शौविक ने मंगलवार को हाईकोर्ट में जमानत अर्जी दाखिल की थी, जिस पर आज सुनवाई होनी थी, मगर बारिश की वजह से हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस ने एक दिन की छुट्टी का ऐलान कर दिया है, जिसकी वजह से अब इस पर कल सुनवाई होगी। रिया चक्रवर्ती के वकील सतीश मानशिंदे ने यह जानकारी दी।रिया चक्रवर्ती के वकील सतीश मानशिंदे ने कहा कि बॉम्बे हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस ने शहर में गंभीर जलभराव के बाद हाईकोर्ट के लिए आज अवकाश घोषित किया है। आज की सुनवाई कल होगी। बता दें कि बता दें कि नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने 8 सितंबर को रिया चक्रवर्ती को गिरफ्तार किया था और पिछले 14 दिनों से वह मुंबई की भायखला जेल में बंद हैं। 
उधर, मंगलवार को विशेष एनडीपीएस अदालत ने रिया चक्रवर्ती की जमानत याचिका खारिज कर दी और उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। विशेष अदालत ने मंगलवार को अभिनेत्री की न्यायिक हिरासत की अवधि छह अक्टूबर तक बढ़ा दी है। रिया चक्रवर्ती की जमानत याचिका खारिज करते हुए विशेष अदालत ने कहा था कि वह उन लोगों को 'सतर्क' कर सकती है, जिनका नाम उसने एनसीबी के समक्ष दिये बयान में लिया है। 
सुशांत सिंह राजपूत के सहायक सैमुअल मिरांडा के साथ एनसीबी ने शौविक को पांच सितंबर को दिवंगत अभिनेता के लिए ड्रग्स हासिल करने और उसके लिए पैसे देने के आरोप में गिरफ्तार किया था। विशेष अदालत ने 11 सितंबर को शौविक, मिरांडा और मामले के अन्य आरोपियों द्वारा दायर जमानत याचिका को खारिज कर दिया था। 
बाद में मिरांडा, राजपूत के निजी सहायक दीपेश सावंत और कथित ड्रग डीलर अबु बासित परिहार ने जमानत के लिये उच्च न्यायालय का रुख किया था। न्यायमूर्ति कोतवाल ने पिछले हफ्ते उनकी जमानत पर सुनवाई की थी। उनकी याचिकाओं पर अगली सुनवाई 29 सितंबर को होनी है। 
बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को बांद्रा स्थित अपने फ्लैट में मृत पाए गए थे। इसके बाद इस मामले की गुत्थी सुलझाने के लिए केंद्र की तीन एजेंसियां शामिल हुईं। इस मामले की जांच सीबीआई, ईडी और एनसीबी कर रही है। माना जा रहा है कि अब एनआईए की भी एंट्री हो सकती है।