संस्कारधानी में कोरोना प्रोटोकॉल का पालन ना करने में कितनी चालानी प्रक्रिया हुई है,आइए देखें..... - eaglenews24x7

Breaking

संस्कारधानी में कोरोना प्रोटोकॉल का पालन ना करने में कितनी चालानी प्रक्रिया हुई है,आइए देखें.....

कोरोना प्रोटोकाल का कड़ाई से पालन कराने हेतु उल्लंघन करने वालों के विरूद्ध 20 मार्च 2020 से 25 अप्रैल 2021 तक की गयी कार्यवाही।

दिनाॅक 20-3-2020 से दिनाॅक 25-4-21 तक 3365 प्रकरण में 4614 व्यक्तियों के विरूद्ध की गयी 188 भा.द.वि.की कार्यवाही।


दिनाॅक 7-5-2020 से दिनाॅक 25-4-21 की रात्रि तक मास्क न लगाने एवं सोशल डिस्टेंस का पालन न करने वाले 2 लाख 5 हजार 434 व्यक्तियों से 2 करोड़ 10 लाख 20 हजार 850 रूपये समन शुल्क वसूला गया है।



कोरोना प्रोटोकाल का कडाई से पालन कराने हेतु उल्लंघन करने वालों के विरूद्ध दिनाॅक 1 अप्रैल 2021 से 25 अप्रैल 21 की रात्रि 10  बजे तक की गयी कार्यवाही।


कोरोना गाईड लाईन का उल्लंघन करने पर 987 प्रकरण में 1024 व्यक्तियों के विरूद्ध की गयी 188 भा.द.वि.एवं आपदा प्रबंधन अधिनियम एवं महामारी अधिनियम के तहत की गयी कार्यवाही।


बिना किसी कारण के घूमते हुये 3147 व्यक्तियों को अस्थाई जेल में कराया गया निरूद्ध एवं सभी के विरुद्ध प्रतिबंधात्मक कार्यवाही करते हुये दिलाई गयी मास्क लगाने की शपथ।


मास्क न लगाने एवं सोशल डिस्टेंस का पालन न करने वाले 52 हजार 173 व्यक्तियों के विरूद्ध कार्यवाही करते हुये 52 लाख 87 हजार 50 रूपये समन शुल्क फाईन किया गया।


जबलपुर संस्कारधानी वासियों को कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव संबंधी जन जागरूकता अभियान के तहत जबलपुर पुलिस द्वारा मास्क नहीं तो सामान नहीं, तथा मास्क नहीं तो यात्रा नहीं के 3354 सार्वजनिक स्थान पर बैनर लगाए गए एवं पोस्टर चिपकाए गए तथा 2660 वाहनों में एवं 4160 दुकानों में स्टीकर चिपकाते हुए लगभग 48,000 मास्क बांटे गए हैं।


इसी प्रकार जबलपुर संस्कारधानी वासियों को कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के संबंध में नुक्कड़ नाटक के माध्यम से जबलपुर पुलिस द्वारा अलग अलग थाना क्षेत्र के मोहल्ले,कालोनियों एवं शहर के प्रमुख तिराहे,चौराहों पर लोगों को प्रतिदिन जागरूक किया जा रहा है।


पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा ने जबलपुर संस्कारधानी वासियों से अपील की है कि फैल रहे कोरोना वायरस के संक्रमण एवं वर्तमान परिस्थितियों को दृष्टिगत रखते हुये कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये  सावधानी बरतने की आवश्यकता है।


कोरोना संकमण की चेन को ब्रेक करने हेतु हर व्यक्ति का यह विशेष दायित्व है कि कोरोना प्रोटाकाॅल का सख्ती से पालन करते हुये जरूरी कार्य होने पर ही घर से बाहर निकलें,बच्चों और बुजुर्गो को अनावश्यक घर से बाहर न जाने दें।


जब भी घर से बाहर निकलें मास्क अनिवार्य रूप से लगाये,फिजिकल डिस्टेंस दो गज की दूरी के नियम का कड़ाई से पालन करें,भीड़ का हिस्सा न बनें, समय समय पर हाथ को साबुन पानी से धोयें एवं सैनेटाईज करें,सर्दी,खांसी,बुखार और सांस लेने में तकलीफ होने जैसे लक्षण होने पर तुंरत निकटतम फीवर क्लीनिक में जाकर जांच करायें।